Loading...    
   


निगम अधिकारी शुक्ला के खिलाफ ठेले वालों ने चक्काजाम किया, निगमायुक्त को घेरा - GWALIOR NEWS

ग्वालियर
। हमेशा विवादों में रहे मदाखलत अधिकारी शशिकांत शुक्ला के दोबारा पदभार संभाले चंद घंटे ही बीते थे कि मंगलवार सुबह राजपायगा रोड, नया बाजार में फिर हंगामें के हालात बन गए। शुक्ला जेडओ व मदाखलत गैंग के साथ यहां पहुंचे और ठेले पर सामान सजाए बोहनी की आस में बैठे ठेले वालों को यहां से खदेडऩा शुरु कर दिया। 

पहले तो ठेंले वाले तितर-बितर होने लगे, लेकिन जब उनका सामान फैंककर ठेले जप्त करने शुरु कर दिए गए तो फिर वह आक्रोशित हो गए, इस बीच पूर्व पार्षद व विधायक समर्थकों ने भी ठेले वालों के समर्थन में मोर्चा संभाल लिया और बीच सडक़ पर ठेले रख चक्काजाम कर दिया। 

जब इस विवाद की जानकारी उपायुक्त सतपाल सिंह चौहान के साथ सफाई व्यवस्था की मॉनिटरिंग कर रहे निगमायुक्त संदीप माकिन को लगी तो  वह भी मौके पर पहुंच गए और चक्काजाम करने वालों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन इनके द्वारा बजाए निगमायुक्त की बात सुनने के उन्हे भी घेर लिया गया। हालात बिगड़ते देख निगमायुक्त के साथ मौजूद डीएसपी ट्रेफिक नरेश अन्नोटिया ने पुलिस फोर्स बुलाया तब बमुश्किल वहयहां से निकल सके।

लग गईं वाहनों की कतारे

ठेले वालों द्वारा चक्काजाम कर देने से इस पूरे मार्ग पर दोनों ओर वाहनों की कतार लग गई। चूंकि यह अति व्यस्त मार्ग और व्यवसायिक स्थल है, वहीं अस्पताल रोड होने के कारण भी यहां सुबह से वाहनों की आबाजाही शुरु हो जाती है, यही नहीं लोडिंग, अन लोडिंग भी बड़ी संख्या में होती है, जिससे हैवी वाहन भी यहां फंस गए।

यह है मामला

 शशिकांत शुक्ला को तमाम शिकायतों के बाद निगमायुक्त द्वारा चुनाव के समय मदाखलत विभाग से हटा दिया गया था, लेकिन चुनाव खत्म होते ही एक बार फिर उन्हे अचानक ग्वालियर दक्षिण व ग्वालियर पूर्व की कमान सौंप दी गई, पावर में आते ही शशिकांत शुक्ला सुबह ही राजपायगा रोड पर पहुंच गए और ठेले वालों के खिलाफ कार्रवाई कर दी। इसके बाद यह हंगामा शुरु हो गया। 

विधायक के घर पहुंचे ठेले वाले

एक ओर जहां यह हंगामा चल रहा था, वहीं दूसरी ओर कुछ ठेले वाले क्षेत्रीय विधायक सतीश सिकरवार के घर पहुंच गए, तब सिकरवार भी मौके पर पहुंचे और निगमायुक्त से कहा कि ठेले वालों के लिए या तो वैकल्पिक व्यवस्था की जाए या फिर उन्हे यहीं धंधा करने दें, वरना यह क्या करेंगे। इस पर समझौता यह हुआ कि ठेले वाले रोड न घेरकर नाले किनारे ठेले लगाएंगे, लेकिन यहां से हटेंगे नहीं, तब जाकर विवाद सुलझा, लेकिन उन्होने यह भी कहा कि शुक्ला बेवजह किसी भी ठेंले या फुटपाथ वाले दुकानदार को परेशान न करें।

बाड़े के फुटपाथी दुकानदार रोषित

यही नहीं शशिकांत शुक्ला को फिर से दक्षिण का मदाखलत प्रभारी बनाए जाने को लेकर बाड़े के फुटपाथी दुकानदारों में भी जबरदस्त आक्रोश है। इनका कहना है कि वह इसे लेकर सांसद विवेक शेजवलकर से शिकायत करेंगे। यदि शुक्ला को नहीं हटाया तो फिर आंदोलन कर सकते हैं।

25 नवम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here