Loading...    
   


दशहरा के दिन यह तीन चीजें दिख गईं, समझो किस्मत चमक गई - dussehra ki manyataye

विजयदशमी यानी दशहरा का पर्व पूरे भारत में धूमधाम से मनाया जाता है। ज्योतिष कहती है कि विजयदशमी का दिन इसलिए खास नहीं है कि इस दिन रावण का वध हुआ था, बल्कि इसलिए खास है क्योंकि विजयदशमी के दिन ऐसे योग बनते हैं जब रावण देसी स्थापित बुराई का नाश किया जा सकता है। इस दिन कई चमत्कारी योग बनते हैं। हम आपको भारतीय मान्यताओं के आधार पर उन तीन चीजों के बारे में बता रहे हैं जिनके दर्शन यदि विजयदशमी के दिन हो गए तो कहते हैं कि किस्मत चमक जाती है। पूरे साल भर हर काम में सफलता प्राप्त होती है।

नीलकंठ पक्षी के दर्शन

ज्योतिष के मुताबिक, दशहरे के दिन नीलकंठ पक्षी के दर्शन प्राप्त होना अत्यंत ही शुभ माना जाता है। शास्त्रों में वर्णन है कि रावण के समक्ष युद्ध के लिए खड़े भगवान श्रीराम को भगवान शिव ने नीलकंठ पक्षी के रूप में दर्शन दिए थे। इसी के फलस्वरूप भगवान राम आत्मविश्वास के साथ रावण से युद्ध करने के लिए उपस्थित हुए और उसका वध किया। विजयदशमी के दिन नीलकंठ पक्षी के दर्शन का मतलब वर्ष भर हर कार्य में सफलता का आशीर्वाद माना जाता है।

जल में स्वतंत्र मछली के दर्शन 

विजयदशमी के दिन किसी भी प्राकृतिक जल स्त्रोत जैसे नदी या तालाब में स्वतंत्र विचरण करती हुई मछलियों के दर्शन बेहद शुभ माने जाते हैं। दशहरे के दिन मछली का दर्शन इस बात का संकेत माना जाता है कि इस साल भाग्योदय होने वाला है। लेकिन ध्यान रखें किसी पात्र में बंधक बनाई गई मछलियों के दर्शन शुभ नहीं माने जाते। बल्कि मछली को बंधक बनाने का पाप लगता है।

सौभाग्य के लिए भगवान शिव और राम के दर्शन करें 

विजयदशमी के दिन भगवान शिव और राम के दर्शन करना चाहिए। मान्यता है कि ऐसा करने से सौभाग्य की प्राप्ति होती है। यदि आप यात्रा पर हैं तो यह आपके लिए लाभदायक होगा। यदि आप यात्रा के दौरान मार्ग में स्थित किसी भी मंदिर में भगवान शिव और भगवान राम के दर्शन करें। क्योंकि विजयदशमी की तिथि को यात्रा की तिथि माना जाता है।

श्री राम भक्त हनुमान पर पान का बीड़ा चढ़ाएं 

दशहरे का दिन प्रभु श्रीराम के विजय का दिन है। रावण यानी प्रकृति में व्याप्त कष्टकारी बुराइयों की समाप्ति का दिन है। शाम को विजय का उल्लास मनाते हुए श्री राम भक्त हनुमान के समक्ष पान का बीड़ा अर्पित करें एवं परिवार के सभी सदस्य रात्रि भोजन के बाद बांध का सेवन करें। मान्यता है कि ऐसा करने से श्री राम भक्त हनुमान आपकी बधाई स्वीकार करते हैं एवं आपको आशीर्वाद देते हैं।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here