Loading...    
   


राष्ट्रीय खेल दिवस: पढ़िए खेल के बारे में ऐसी जानकारी जो आपको खेलने पर मजबूर कर दे / NATIONAL SPORT'S DAY

खेलों का हमारे जीवन में बहुत अधिक महत्व है। शरीर के साथ-साथ ये हमारे मानसिक,   सामवेगी, सामाजिक, सभी प्रकार के विकास में उपयोगी हैं। ऐसा कहा भी जाता है कि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क का निवास होता है। "A healthy body is a healthy brain"

खेल दिवस क्यों मनाया जाता है

प्रत्येक वर्ष 29 अगस्त का दिन हॉकी के महान जादूगर मेजर ध्यान चंद्र के जन्मदिवस पर उनके  सम्मान में खेल दिवस के रूप में मनाया जाता है। यह वर्ष 2012 से मनाया जाता आ रहा है। इस दिन स्कूलों कॉलेजों आदि में विभिन्न प्रकार की खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है।  परंतु अब इस वर्ष 2020 में कोरोना काल  के कारण सभी खेल आयोजन प्रतिबंधित है।

आइए जानते हैं इस दिन और क्या खास होता है 

खेल दिवस के दिन राष्ट्रपति भवन में एक बहुत बड़े कार्यक्रम का आयोजन होता है। जिसमें खेल जगत में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को सम्मानित किया जाता है। 
इस दिन राजीव गांधी खेल रत्न ,ध्यानचंद पुरस्कार, द्रोणाचार्य पुरस्कार ,अर्जुन पुरस्कार, तेंनजिंग नार्गो आदि पुरस्कार माननीय राष्ट्रपति महोदय द्वारा खिलाड़ियों को राष्ट्रीय खेल दिवस पर प्रदान किए जाते हैं।
यह राष्ट्रीय खेल दिवस है परंतु इसे अंतर्राष्ट्रीय खेल दिवस के साथ में ना मिलाए , क्योंकि वह 6 अप्रैल को मनाया जाता है।

मानव सभ्यता में खेलों की शुरूआत कब से हुई

खेलों का इतिहास मनुष्य के इतिहास जितना ही पुराना है।
प्राचीन काल में खेलों का उपयोग शक्ति प्रदर्शन में किया जाता था जो राज्य या देश जितना अच्छा खेल का प्रदर्शन करता था वह उतना ही अधिक शक्तिशाली माना जाता था।
भारत में खेल रामायण, महाभारत के समय से ही प्रचलित हैं। 
आधुनिक खेलों में क्रिकेट हॉकी शतरंज कबड्डी बास्केटबॉल आदि अधिक प्रचलित है।
खेल बच्चों में कल्पना शक्ति, सृजनात्मकता, भावनात्मकता तथा भाषाई कौशल का विकास करते हैं।

sport का अर्थ है निम्न प्रकार से माना जा सकता है

S- spiritual(आत्मीय) 
P-physical(शारीरिक) 
O-organize(व्यवस्थित) 
R-reliable( विश्वस्निय) 
T-Teacher(शिक्षक) 

अर्थात खेल का अर्थ है एक ऐसा शिक्षक जो हमें आत्मीय तथा शारीरिक रूप से व्यवस्थित कर देता है। शिक्षा में भी खेलों का अत्यधिक महत्व है बिना शारीरिक शक्ति के शिक्षा अपंग मानी जाती है।
मारिया मोंटेसरी की खेल खेल में शिक्षा विधि (kindergarden method) इसी पर आधारित है। वाइगोत्सकी के अनुसार खेलों से ही बच्चों में अमूर्त चिंतन अर्थात (Abstract thinking) का विकास होता है।

29 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

1 सितंबर से स्कूल/कॉलेज खुलेंगे या नहीं, भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया
सऊदी अरब में बारिश क्यों नहीं होती है 
BF ने शादी से मना किया, रेप केस दर्ज / लड़का बोला ब्लैकमेल कर रही है
मध्य प्रदेश के 6 जिलों में वज्रपात की संभावना, नागरिक सावधान रहें
ज्योतिरादित्य सिंधिया के नागपुर प्रवास के बाद कमलनाथ और शिवराज सिंह मिले
दूध को दही बनाने वाले चमत्कारी पत्थर में क्या खास है, कहां मिलता है, नाम क्या है
सिंधिया के मोदी कैबिनेट में शामिल होने के आसार
स्कूल फीस मामले में CBSE ने मध्यप्रदेश हाईकोर्ट में जवाब पेश किया
क्या आप एक शब्द में भारत की सभी विश्व सुंदरियों के नाम बता सकते हैं, यहां पढ़िए
MPPEB द्वारा स्थगित प्रवेश परीक्षाएं कब से आयोजित की जाएंगी, यहां पढ़िए
पेट में गुटर गुटर क्यों होती है ?
मोबाइल फोन में नंबर डायल करने का सुपर फास्ट तरीका कौन सा है, यहां पढ़िए
भोपाल में ऑनलाइन गेम में हारने पर नाबालिग ने सुसाइड कर लिया
MP IAS TRANSFER LIST / मप्र आईएएस अफसरों के तबादले
इंदौर के 37 कॉलेजों में 50 करोड़ का स्कॉलरशिप फ्रॉड
मध्यप्रदेश में छोटे उपभोक्ताओं का 31 अगस्त तक बिजली बिल माफ
COLLEGE EXAM: जनरल प्रमोशन पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला पढ़िए
ग्वालियर में बिजली कंपनी ने ऊर्जा मंत्री की भाभी को एक करोड़ का फायदा पहुंचाया!
मध्यप्रदेश में महिला कर्मचारियों से नाइट ड्यूटी कराई जाएगी
कर्मचारी को तंग करने जारी अटैचमेंट आदेश पर हाईकोर्ट का स्टे
आरक्षण BREAKING / राज्य सरकार को SC/ST में क्रीमी लेयर बनाने का अधिकार: सुप्रीम कोर्ट


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here