Loading...    
   


भोपाल में महिला अधिकारियों ने बेची शराब, शराबियों ने लाइन लगाकर खरीदी / BHOPAL NEWS

भोपाल। भोपाल जिले में 78 दिनों से बंद पड़ी 90 शराब दुकानों में से मंगलवार को 32 दुकानें शाम पांच बजे खुल गईं। सभी दुकानों का संचालन आबकारी विभाग ही कर रहा है। विभाग ने महिला अधिकारियों की शराब बेचने व राजस्व एकत्रित करने तक में लगा दी है। 

महिला आरक्षकों को जहां शराब बेचने में लगाया गया है वहीं महिला नायब तहसीलदारों की तैनाती राजस्व एकत्रित कर बैंक में जमा कराने के लिए लगा दिया गया हैं। इसके लिए बकायदा ड्यूटी चार्ट भी तैयार किया गया है। हालांकि होम गार्ड के जवानों को लगाने के लिए विभाग ने पत्र लिखा था लेकिन अब तक होम गार्ड से जवान नहीं मिल पाए है।    

इधर शराब दुकानें खुलते ही सुराप्रमियों की लंबी कतारें लगना शुरू हो गई। शराब वर्ष 2020-21 के नए रेट पर बेची गई। शराब खरीदने आए लोगों ने दुकान के सामने ही वाहन पार्क किए थे, इससे मुख्य मार्ग पर कई बार जाम की स्थिति बनी। नेहरू पार्क काम्पलेक्स स्थित देशी शराब की कलारी के सामने श्रमिक एवं झुग्गी बस्तियों में रहने वालों की लंबी लाइन नजर आई। लालघाटी एवं गांधीनगर में भी दुकान खुलते ही लोग शराब खरीदने उमड़ पड़े।

लंबे समय बाद दुकान खुलने के बावजूद दुकानों में ज्यादा माल नहीं था। लॉकडाउन के दौरान अवैध रूप से शराब बेचने की शिकायतें भी मिली थीं। सुराप्रेमियों को अपनी पंसद का ब्रांड नहीं मिल सका। लोगों ने फिलहाल जो ब्रांड मिला वही खरीद लिया। अगले दो-तीन दिन में नया माल आने की संभावना है। हालांकि ठेकेदारों से शराब दुकान लेने तथा उसकी गिनती करने में समय लगा, 50 प्रतिशत शराब दुकानों से बिक्री नहीं हो सकी। जांच में कुछ दुकानों पर अनियमितताएं मिली हैं, इनमें शराब स्टॉक से कम पाई गई है।


10 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

प्रीति ने लिखा 'लाइफ बहुत गंदी है' और फांसी पर झूल गई
नरोत्तम मिश्रा, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह से बदतमीजी कर रहे हैं: पूर्व मुख्यमंत्री
RGPV: परीक्षाओं के लिए नए नियम जारी
कंप्यूटर के पॉवर स्विच पर बना निशान, बाकी सभी से अलग क्यों होता है
चलती ट्रेन में यदि कोई सामान गिर जाए तो क्या करें
मोड़ आने पर सड़क एक तरफ झुकी हुई क्यों बनाते हैं
जबलपुर में पति ने चरित्र संदेह में पत्नी को जिंदा जलाया
Tata Sky ने 25 फ्री चैनलों को PAID कर दिया, यूजर्स की पॉकेट कटेगी
केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ता मामले में दिल्ली हाई कोर्ट का डिसीजन
DAHET के लिए आवेदन शुरू, ऑफिशल नोटिफिकेशन यहां है
दिवालिया बैंक में जमाधन डूब जाता है तो क्या लिया गया LOAN भी नहीं चुकाना पड़ता
यदि कोई मर्जी के बिना घर में घुस आए तो क्या FIR दर्ज करवाई जा सकती है
मध्य प्रदेश के 5 जिले कोरोना मुक्त, ग्रोथ रेट 2.74%, रिकवरी रेट 68.3%
एक व्यक्ति की असावधानी के कारण दूसरे की मृत्यु हो जाए तो FIR दर्ज होगी या नहीं
मध्य प्रदेश कोरोना बुलेटिन रात 11 बजे जारी हुआ, 22 जिलों में 211 पॉजिटिव


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here