Loading...    
   


भोपाल में कोरोना के 4 मरीज बिना अस्पताल गए ही ठीक हो गए / BHOPAL NEWS

भोपाल। लॉक डाउन के कारण लोगों के दिलों में कोरोनावायरस के प्रति बैठी दहशत अब कम आने लगी है। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में 4 लोगों ने अपने घर में ही आइसोलेशन में रहते हुए कोरोनावायरस को मार भगाया। पहले उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव थी परंतु अब लगातार तीसरी बार नेगेटिव आई है। 

भोपाल में 20 मरीज होम आइसोलेशन में

सरकारी डॉक्टर कहते हैं कि भोपाल में पहली बार घर में रहकर कोरोना मरीज स्वस्थ हुए हैं। 20 मरीज अभी भी अपने घरों में आइसोलेट रखे गए हैं। भोपाल में रविवार को कोरोना के 32 नए मरीज मिले हैं। भेल टाऊनशिप में पहली बार कोरोना का मामला सामने आया है। यहां भेल के एक कर्मचारी के पिता कोरोना से संक्रमित मिले हैं।

भारत सरकार ने गाइडलाइन बदल दी

भारत सरकार की नई गाइडलाइन के तहत हल्के लक्षण या बिना लक्षण वाले मरीजों को उनके घर में ही आइसोलेट किया जा सकता है। इस आधार पर भोपाल में 12 मई से मरीजों को घर में ही आइसोलेट करने की शुरुआत हुई थी। शहर के विभिन्न इलाकों में 20 मरीजों को घर में रखा गया है। इनमें हमीदिया रोड, छोला रोड, साकेत नगर और ऐशबाग से 20 से 40 साल के बीच के चार पुरुषों को 17 दिन बाद स्वस्थ घोषित कर दिया गया है। हालांकि, अभी भी उन्हें 14 दिन तक क्वारंटाइन रहना होगा। 

भोपाल में कोरोनावायरस के मरीजों को क्या दवाइयां दी

सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी ने बताया कि इन मरीजों को इलाज के नाम पर मल्टीविटामिन दी गई थी, जिससे उनकी प्रतिरोधक क्षमता अच्छी रहे। उन्होंने बताया कि अभी भी करीब 20 मरीज अपने घरों में आइसोलेट हैं। स्वास्थ्य विभाग की मेडिकल मोबाइल यूनिट हर दिन उनकी निगरानी करती है। मरीजों के लिए आरोग्य सेतु ऐप डाऊनलोड करना अनिवार्य है। घर में रहने के लिए सबसे बड़ी शर्त यह है कि मरीज के रहने के लिए अलग कमरा और शौचालय होना चाहिए। साथ ही उसकी देखभाल करने के लिए भी एक व्यक्ति घर में होना जरूरी है। सीएमएचओ ने कहा कि मरीजों के परिजन को ऐहतियात के तौर पर हाइड्राक्सीक्लोरोक्वीन दवा दी गई है।

01 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

पालतू कुत्तों की पूंछ क्यों काट दी जाती है, क्या कोई साइंस है या बस देखा-देखी
इंदौर में व्यापारी के गोदाम से नोटों से भरे बोरे,1 ट्रक 4 गाड़ियां भरकर गुटखा बरामद
MP BOARD 10th-12th EXAM RESULT कब आएगा, यहां पढ़िए
जीतू पटवारी ने मध्यप्रदेश विधानसभा उपचुनाव में हार स्वीकारी ?
बैंक वाले चेक के पीछे सिग्नेचर क्यों करवाते हैं, जबकि वहां सिग्नेचर मार्क नहीं होता
जब खून लाल है तो नसों का रंग नीला क्यों होता है
DATING APP पर मिली गर्लफ्रेंड वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने लगी
यदि समुद्र के पानी को मीठा कर दिया जाए तो क्या होगा
कोरोना तक प्राइमरी स्कूल बंद रहेंगे, मिडिल-HSS स्कूल सितंबर से: बाल आयोग
1 जून से 12 ट्रेनें ग्वालियर में रुकेंगी, टाइम और नंबर बदल गया है
लॉकडाउन 5.0: मुख्यमंत्री ने बताया, क्या खुलेगा - क्या बंद रहेगा
मध्यप्रदेश में कोरोना 8000 के पार, 23 जिलों में 198 पॉजिटिव
आपका मोबाइल नंबर बदलने वाला है, TRAI की तरफ से तैयारी हो गई है
इंदौर में पत्नी को लेने गए युवक को ससुरालवालों ने जिंदा जला दिया
निर्माणाधीन बिल्डिंग का गिर जाना हादसा होता है या अपराध, यहां पढ़िए
भूख से बिलखते नवजात शिशु को बस स्टॉप पर छोड़ दिया क्योंकि माँ भी भूखी थी, दूध तक नहीं निकल रहा था
ड्रग इंस्पेक्टर के खिलाफ जबलपुर की मेडिकल स्टोर्स बंद, सस्पेंड करने के बाद भी नहीं खुली


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here