Loading...    
   


डांगरी ड्रेस पहनने वाले पुलिस कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई होगी: PHQ / MP NEWS

भोपाल। मध्यप्रदेश में मैदानी ड्यूटी करने वाले पुलिस कर्मचारियों को इन दिनों खाकी से ज्यादा डांगरी ड्रेस पसंद आ रही है। कई कर्मचारी इन दिनों कोरोना ड्यूटी में भी डांगरी ड्रेस पहन कर घूम रहे हैं। पुलिस मुख्यालय ने निर्देश जारी किए हैं कि डांगरी ड्रेस पहनने वाले कर्मचारियों को अनुशासनहीनता के तहत कार्यवाही से दंडित किया जाए।

पुलिस में डांगरी ड्रेस का इस्तेमाल कब किया जाता है

कोरोना में ड्यूटी करने के दौरान पुलिस अनुशासन का ध्यान नहीं रख रही थी। यही वजह है कि पुलिस मुख्यालय ने फील्ड पर तैनात पुलिसकर्मियों को अनुशासन याद दिलाया है। पुलिस मुख्यालय ने भोपाल और इंदौर के साथ प्रदेश के अन्य जिलों के पुलिस अधीक्षक (एसपी) को पत्र लिखकर खाकी वर्दी पहनने के निर्देश हैं। यह निर्देश इसलिए दिए हैं क्योंकि पुलिस मुख्यालय का मानना है कि कोरोना आपदा के दौरान पुलिस अधिकारी और कर्मचारी कई जिलों में डांगरी का इस्तेमाल कर रहे हैं। जबकि डांगरी वर्दी का इस्तेमाल नक्सल प्रभावित जिलों में किया जाता है। यह वर्दी मल्टी पॉकेट रहती है और इसका रंग मिलिट्री की वर्दी की तरह रहता है।

भोपाल, इंदौर की सबसे ज्यादा शिकायत

ड्यूटी के दौरान खाकी वर्दी को छोड़कर नक्सल प्रभावित जिलों में पहने जाने वाली वर्दी को लेकर पुलिस मुख्यालय को कई शिकायतें मिली थीं। इसके बाद इंटेलिजेंस चीफ आदर्श कटियार ने सभी जिलों की पुलिस को खाकी वर्दी पहनकर ड्यूटी करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने आदेश में लिखा कि ड्यूटी पर जितने भी पुलिसकर्मी और अधिकारी तैनात हैं, वो उचित आचरण के साथ निर्धारित खाकी वर्दी पहन कर ड्यूटी करें। उन्हें नक्सल प्रभावित जिलों में पहनी जाने वाली वर्दी का इस्तेमाल नहीं करना है। इस आदेश का पालन कराने की जिम्मेदारी डीआईजी और एसपी की है।

क्या थाना पुलिस के कर्मचारी ड्यूटी के दौरान सादा ड्रेस या दूसरे कपड़े पहन सकते हैं

मल्टी पॉकेट वर्दी का इस्तेमाल नक्सल प्रभावित क्षेत्रों और स्पेशल ऑपरेशन के दौरान किया जाता है। मिलिट्री वर्दी की तरह दिखने वाली डांगरी वर्दी एसटीएफ, एटीएस, एसडीआरएफ के साथ हॉक फोर्स पहनता है। नक्सल क्षेत्र में इस तरीके की वर्दी पहनने की रियायत दी गई है। कोरोना आपदा की ड्यूटी में तैनात कई थानों के पुलिस अधिकारी कर्मचारी डांगरी वर्दी पहनकर ड्यूटी करते हुए नजर आए थे। पुलिस मैनुअल के हिसाब से ड्यूटी पर खाकी वर्दी पहनना अनिवार्य है। क्राइम ब्रांच की ओर से फील्ड पर तैनात पुलिस के जवानों को यह रियायत है कि वो सादे कपड़ों में ड्यूटी कर सकते हैं लेकिन थाना पुलिस को किसी तरीके की रियायत नहीं है। थाना स्तर पर ड्यूटी पर तैनात शत-प्रतिशत पुलिसकर्मियों को खाकी वर्दी ही पहननी होगी।

25 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़ी जा रहीं खबरें

रेलवे स्टेशन और रेलवे जंक्शन में क्या अंतर है, एक स्टेशन कब जंक्शन बन जाता है 
E-GRAM SWARAJ App Download यहां से करें, पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा ग्राम पंचायतों के लिए लांच
ज्योतिरादित्य सिंधिया: बीजेपी ज्वाइन करने के बाद भी कांग्रेस के कनेक्शन में क्यों हैं 
स्वामित्व योजना क्या है, इससे क्या फायदा होगा, यहां पढ़िए 
कार की स्टीयरिंग बीच सेंटर में क्यों नहीं होती, साइड क्यों होती है 
लॉकडाउन: सभी प्रकार की दुकानें खोलने के आदेश जारी, शर्तें लागू 
सहकारी समितियां किसानों से कर्जवसूली कर रहीं हैं, रोकिए शिवराज
ज्योतिरादित्य सिंधिया को उनके गढ़ में धूल चटाने कमलनाथ की कोर टीम तैयार 
लॉक डाउन में अमूल ने दाम घटाए, बिक्री बढ़ी, आइसक्रीम नहीं पनीर खा रहे हैं लोग 
मध्य प्रदेश: 159 नए मामले, टोटल 1846, संक्रमित जिलों की लिस्ट से 3 नाम घटे 
SLAP KINGS बना दुनिया का सबसे लोकप्रिय मोबाइल गेम, PUBG और Call Of Duty को पीछे छोड़ा
बेईमान राशन विक्रेता का वीडियो बनाकर भेजें: कलेक्टर 
ग्वालियर 10 मंजिला एमके सिटी में आग, लोग चौथी मंजिल से कूदे 
लॉकडाउन ने उजाड़ा पूरा परिवार, बेटी की हत्या कर माँ ने सुसाइड किया 
SC-ST के धनाढ्य लोगों को आरक्षण का लाभ नहीं मिलना चाहिए: सुप्रीम कोर्ट 
जबलपुर में आर्मी ऑफिसर और उसकी पत्नी ने आत्महत्या की 
भोपाल में 8 माह के बच्चे सहित 1 ही परिवार 4 लोग कोरोना पॉजिटिव 
शिवराज सरकार ने घुटने टेके, पेरेंट्स को स्कूल संचालकों के सामने लावारिस छोड़ दिया
OMG! माँ की मौत 8 दिन बाद हॉस्पिटल से फोन आया कि वो कोरोना पॉजिटिव थीं 
भोपाल के सबसे बड़े सब्जी कारोबारी की कोरोनावायरस से मौत
शिवपुरी में होम क्वारेटाईन छात्र की संदिग्ध मौत, अफवाहों का बाजार गर्म 
मध्यप्रदेश में अब बिना अंगूठा लगाए राशन मिलेगा: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह 
दुकान खोलने की अनुमति पर गृह मंत्रालय का स्पष्टीकरण 
ब्रेकिंग! भिड़े की बेटी सोनू का अफेयर टप्पू से नहीं गोली से चल रहा है! 
सार्वजनिक स्थान पर आपत्तिजनक बयान, किसी धारा के तहत FIR दर्ज होगी 
SC-ST के धनाढ्य लोगों को आरक्षण का लाभ नहीं मिलना चाहिए: सुप्रीम कोर्ट 
हेयर कटिंग सैलून के कपड़े से 6 लोगों को कोरोना हो गया 
ज्योतिरादित्य सिंधिया के MITS ने अस्थाई कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त कर दीं 
ग्वालियर 10 मंजिला एमके सिटी में आग, लोग चौथी मंजिल से कूदे 
उज्जैन कलेक्ट्रेट के क्लर्क की मौत, पार्षद और नर्स इंफेक्शन का शिकार


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here