Loading...    
   


कमलनाथ सर, आरक्षण की जिद छोड़कर भर्ती प्रक्रिया शुरू करवाइए | Khula Khat to CM Kamal nath

माननीय मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ जी, मैं मध्य प्रदेश के बेरोजगार युवाओं की तरफ से आपसे कुछ निवेदन करना चाहता हूं, हम मध्य प्रदेश के युवा बेरोजगार लोग आप की सरकार आने के बाद काफी आशावान थे कि मध्य प्रदेश में बिगड़ती हुई रोजगार की दशा को आपकी सरकार एक नई स्फूर्ति देगी लेकिन आपकी सरकार बनने के इतने दिन बाद भी मध्य प्रदेश के बेरोजगार युवाओं के लिए आपकी सरकार द्वारा कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया। यहां तक कि आपके द्वारा दिए गए वचन पत्र में जिस कर्मचारी चयन आयोग की घोषणा की गई थी वह भी आज तक नहीं बना बल्कि आज भी वहीं संस्थान मध्य प्रदेश के बेरोजगार युवाओं के भविष्य की रूपरेखा तय कर रहा है जिस पर विगत वर्षों में सबसे बड़े शिक्षा के घोटाले का आरोप है।

आपकी सरकार आने के बाद मध्य प्रदेश का युवा वर्ग जिस हर्षोल्लास के साथ प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा था उनमें अब धीरे-धीरे निराशा घर कर रही है आप की सरकार आने के बाद केवल शिक्षक भर्ती परीक्षा का आयोजन किया गया है। जिसमें भी माध्यमिक और उच्च माध्यमिक पात्रता परीक्षा में पदों की संख्या कम होने के कारण मध्य प्रदेश के सभी युवा बेरोजगारों में एक आक्रोश है। यहां तक कि पात्रता पास अभ्यार्थियों ने इसके विरोध में कई बार आप की सरकार को ज्ञापन दिए हैं तथा पद बढ़ाने की मांग की है।

इसके अलावा मध्यप्रदेश में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे युवा इस आशा में बैठे हुए हैं की मध्य प्रदेश शासन के द्वारा भर्ती परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी और वह रोजगार पाने में सफल हो सकेंगे कई परीक्षाएं आयोजित होनी है जिनमें पुलिस आरक्षक, एसआई, सब इंजीनियर, समूह-1 समूह-2 तथा  अन्य तरह की परीक्षाएं आयोजित की जानी थी लेकिन मध्य प्रदेश सरकार ने अभी तक इनमें से कोई भर्ती नहीं निकाली है।

भर्ती नहीं निकालने के पीछे मध्यप्रदेश सरकार का प्रस्तावित 27% ओबीसी आरक्षण भी एक कारण है इस पर मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय में सुनवाई जारी है इसी वजह से मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित लोकसेवा परीक्षा का प्रारंभिक रिजल्ट भी अटका हुआ है जिसका रिजल्ट 31 जनवरी को आना था जो आज तक नहीं आ पाया है, मेरा सरकार से यह निवेदन है कि सरकार अपनी हठधर्मिता को छोड़कर पुराने आरक्षण रोस्टर जिस में ओबीसी को 14% आरक्षण दिया गया है उसी पर भर्ती प्रक्रिया जल्द से जल्द आयोजित की जाए जिससे कि मध्य प्रदेश के बेरोजगार युवाओं को रोजगार मिल सके एवं मध्य प्रदेश में रोजगार की दशा ठीक हो सके।
रानू पाठक
मध्य प्रदेश के युवाओं की आवाज़
भोपाल समाचार सामुदायिक पत्रकारिता को प्रोत्साहित करता है। मध्य प्रदेश के सभी नागरिकों का इस पर समान अधिकार है। खुला-खत एक खुला मंच है। यदि आप भी सरकार की नीतियों में कोई त्रुटि बातें हैं या फिर सामाजिक समस्याओं के खिलाफ आवाज उठाना चाहते हैं तो यह मंच आपके लिए सदैव उपलब्ध है। विषय को तर्क और तत्वों के साथ हिंदी में टाइप कीजिए और हमें भेज दीजिए। हमारा ई-पता तो आपको पता ही होगा: editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here