Loading...    
   


भारत में 31 मार्च 2020 को फाइनेंसियल ईयर क्लोज नहीं होगा: वित्त मंत्री का ऐलान | MP NEWS

नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए किए जा रहे लॉक-डाउन के चलते वह सभी गतिविधियां प्रभावित हो गई हैं जो फाइनेंसियल ईयर 2019-20 की क्लोजिंग के लिए जरूरी थी। भारत सरकार की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोगों को राहत देते हुए आज का ही घोषणा की। कुल मिलाकर निष्कर्ष यह है कि भारत में 31 मार्च 2020 को फाइनेंसियल ईयर क्लोज नहीं होगा। 31 मार्च 2020 के बाद भी फाइनेंसियल ईयर 2019-20 के लिए सभी प्रकार की गतिविधियां जारी रहेंगी। 

वित्तीय वर्ष 18-19 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न की तारीख को 30 जून तक बढ़ाया गया। लेट भुगतान 12 फीसदी से 9 फीसदी किया गया। ये राहत उन लोगों के लिए है जो 30 मार्च तक नहीं कर पाने की स्थिति में हैं। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि स्रोत पर कर कटौती (टीडीएस) जमा करने में देरी के लिये दंड ब्याज 18 प्रतिशत से कम कर 9 प्रतिशत किया गया। आधार से पैन लिंक करने की तारीख भी बढ़ाई गई है और उसे 30 जून 2020 तक कर दिया गया है।

विवाद से विश्वास योजना की समय सीमा को भी 30 जून 2020 तक बढ़ा दिया गया है। वित्त मंत्री ने कहा कि कर विवाद से जुड़ी मूल राशि के भुगतान पर 10 प्रतिशत का अतिरिक्त शुल्क नहीं लगेगा।

जीएसटी फाइल करने की तारीख भी 30 जून तक बढ़ा दी गई है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि मार्च, अप्रैल, मई 2020 की जीएसटी रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तिथि जून 2020 तक बढ़ाई गई है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि कोरोना वायरस से जुड़े कार्यों में अब सीएसआर का फंड दिया जा सकता है। इसका मतलब है कि इस फंड के पैसे का इस्तेमाल कोरोना वारयरस से निपटने में किया जाएगा। 

5 करोड़ तक टर्नओवर वाली कंपनियों के लिए जीएसटी रिटर्न फाइल करने में देरी पर फिलहाल जुर्माना नहीं।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ऐलान किया कि 3 महीने तक बैंकों के ATM से कैश निकालने पर किसी तरह का चार्ज नहीं देना होगा।

बता दें कि देश में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या 500 के करीब पहुंच चुकी है और नौ लोगों की मौत हो चुकी है। पश्चिम बंगाल और हिमाचल प्रदेश में सोमवार को एक-एक मौत हुई जबकि पूर्व में हुई सात मौत महाराष्ट्र (दो), बिहार, कर्नाटक, दिल्ली, गुजरात और पंजाब में एक एक मौत हुई थी। देश में 22 नए मामले सामने आने के बाद कोविड-19 से अब भी संक्रमित लोगों की संख्या 446 है।  

सरकार ने देश के 32 राज्यों और केन्द्रशासित प्रदेशों के 560 जिलों में कोरोनावायरस संक्रमण को रोकने के लिए पूरी तरह लॉकडाउन कर दिया है। वहीं लक्षद्वीप में आंशिक लॉकडाउन किया गया है। यात्री जहाजों को द्वीप में प्रवेश करने से प्रतिबंधित किया गया है और आपराधिक प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 लागू है।

23 मार्च को सबसे ज्यादा पढ़ी गई खबरें 

यदि चलती ट्रेन में ड्राइवर बेहोश हो जाए तो क्या होगा, पढ़िए 
क्या ट्रक की तरह ट्रेन को धक्का देकर चालू किया जा सकता है, पढ़िए 
MPPEB NEWS: अप्रैल से जून तक की एंट्रेंस एग्जाम का कैलेंडर जारी
9वीं और 11वीं के विद्यार्थी परीक्षा परिणाम घर से देख सकेंगे 
हवाई जहाज कितना माइलेज देता है, प्रति व्यक्ति ईंधन का खर्चा कितना होता है
दिग्विजय सिंह का दलित एजेंडा रिवर्स मारा गया, राज्यसभा सीट खतरे में 
शिवराज सिंह मंत्रिमंडल के बारे में नरोत्तम मिश्रा का बयान
कोरोना वायरस: ग्वालियर कलेक्टर गाइडलाइन जारी 
मध्य प्रदेश के 39 जिलों में लॉक-डाउन, शिवराज सिंह ने 3 महीने की तैयारी को कहा 
हम फिर से मध्य प्रदेश में सरकार बनाएंगे: कमलनाथ का सोनिया गांधी को वादा


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here