Loading...    
   


एक हीरे का वजन पृथ्वी पर 10 कैरेट है तो सूर्य पर कितना होगा, रोचक जानकारी | GK IN HINDI

उपदेश अवस्थी। क्या आप बता सकते हैं किसी भी वस्तु का वजन कैसे निर्धारित होता है। क्या कोई वस्तु जो पृथ्वी पर 1 किलो वजन की है, पृथ्वी के बाहर किसी दूसरे ग्रह पर उस वस्तु का वजन 1 किलो ही रहेगा या फिर इसमें कोई परिवर्तन आ जाएगा। मान लीजिए एक हीरा जिसका पृथ्वी पर वजन 10 कैरेट है, यदि सूर्य पर पहुंच जाए तो उसका वजन कितना होगा। आइए साइंस के सरल से सिद्धांत को सरल हिंदी में समझते हैं।

किसी भी वस्तु में वजन कहां से आता है 

यदि आप बाजार से 1 किलो सब्जी खरीदते हैं तो 1 किलो का मूल्य अदा करते हैं। यानी आप वजन का मूल्य अदा करते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं वजन वस्तु में नहीं होता बल्कि जिस ग्रह पर वह वस्तु उपस्थित है उस ग्रह के गुरुत्वाकर्षण के कारण वजन का निर्धारण होता है। एक वस्तु जो पृथ्वी पर 100 किलो की है यदि चांद पर भेज दिया जाए तो उसका वजन 0 किलो हो जाएगा। क्योंकि चाँद पर गुरुत्वाकर्षण नहीं है। इसी प्रकार यदि 10 कैरेट वजन का हीरा सूर्य पर भेज दिया जाए तो उस हीरे का वजन 10x27=270 कैरेट हो जाएगा। यानी किसी भी वस्तु का वजन सूर्य पर पृथ्वी से 27 गुना अधिक हो जाता है। मेरा वजन 70 किलो है यदि मैं सूर्य पर पहुंच गया तो मेरा वजन 70x27=1890 किलो हो जाएगा, अरे बाप रे यह तो बहुत हो गया। 

पृथ्वी और सूर्य की ग्रेविटी फोर्स में क्या अंतर है

इस आंसर के साथ एक बात और पता चलती है और वह यह कि सूर्य की ग्रेविटी फोर्स पृथ्वी की ग्रेविटी 4 से 27 गुना अधिक है। सूर्य का गुरुत्वाकर्षण पृथ्वी से 27 गुना अधिक है। देखी कितनी आसानी से हम पृथ्वी और सूर्य के गुरुत्वाकर्षण के साथ ब्रह्मांड में गुरुत्वाकर्षण के जादू को समझ गए। मेरे कई दोस्तों इसके बारे में पता नहीं है। जब मैं बताऊंगा तो वह मुझे इंटेलिजेंट समझेंगे। So okey n thanks सवाल का जवाब मिल गया कल फिर मिलेंगे एक नए सवाल के साथ। सूर्य के बारे में कुछ और जानना है तो फिर पढ़ते रहिए:

सूर्य की उम्र कितनी है, क्या सूर्य कभी नष्ट हो जाएगा

यह तो आप जानते ही हैं कि सूर्य ग्रह हमारे सोलर सिस्टम का सबसे महत्वपूर्ण अंग है। वैज्ञानिकों का कहना है कि आकाशगंगा में कुल 200,000,000,000 तारे हैं। यह जो तारे हैं असल में सूर्य हैं। हमारा सूर्य तारा है। बहुत दूर कहीं किसी दूसरे सूर्य की पृथ्वी पर जहां जीवन होगा वहां के लोगों को हमारा सूर्य भी 1 तारे की तरह टिमटिमाते दिखाई देता होगा। वैज्ञानिक कौन है अब तक हमको केवल इतना बताया है कि हमारा सूर्य गैस का एक गोला है। इसमें ना तो कोई जमीन है ना आसमान। और ना ही मंगल ग्रह की तरह पहाड़। वैज्ञानिकों ने यह भी बताया है कि हमारे सूर्य में 26% हीलियम गैस, 2% कार्बन एवं ऑक्सीजन गैस तथा 72% हाइड्रोजन गैस मौजूद हैं लेकिन उन्होंने सूर्य की आयु के बारे में कुछ नहीं बताया है। उनका कहना है कि करोड़ों साल से सूर्य ऐसा ही है। इसमें कोई परिवर्तन नहीं हुआ है। (करोड़ों साल से एक ही जगह पर है, ना बढ़ा हुआ ना बूढ़ा। बोर नहीं हो जाता क्या)

सूर्य के भीतर और बाहरी सतह पर कितना तापमान होता है

वैज्ञानिक प्रयोगों के बाद अब तक जो अनुमान लगाया गया है उसके अनुसार सूर्य के केंद्र का तापमान अनुमानित 150 लाख डिग्री सेंटीग्रेड है। इसके केंद्र में न्यूक्लियर फ्यूजन की क्रिया होती रहती है, जिसके कारण ऊष्मा उत्पन्न होती है (यानी सूर्य के अंदर लगातार परमाणु विस्फोट होते रहते हैं, इसीलिए इतना गर्म होता है)। सूर्य के सतह पर गरूत्वाकर्षण बल के कारण दबाव बना रहता है, जिसके कारण इसकी सतह का तापमान लगभग 6,000 डिग्री सेंटीग्रेड तक बना रहता है। अरे बाबा, अपना तो पढ़ कर ही पसीना आ गया।

सूर्य की रोशनी को पृथ्वी तक पहुंचने में कितना समय लगता है

सूरज की रोशनी को पृथ्वी के धरातल पर पहुँचने में 8 मिनट 30 सेकेण्ड का समय लगता है। सूर्य की उर्जा को पृथ्वी तक पहुँचने में 640 किलोमीटर मोटी वायुमंडल की पर्त को पार करना पड़ता है। जिसके कारण पृथ्वी तक आने वाली उर्जा का आधे से अधिक भाग रास्ते में हीं नष्ट हो जाता है। केवल कुल उर्जा का 46% तक हीं पृथ्वी तक पहुँच पाता है। यह तो घोटाला है भाई, हमारे हिस्से की हाथी ऊर्जा वायुमंडल खा जाता है

कृपया "ज्ञान का दान" अभियान से जुड़े 

नॉलेज और इनोवेशन के मामले में भारत हमेशा ही आगे रहा है लेकिन इन दिनों ज्यादातर लोगों को इंटरटेनमेंट में टाइम स्पेंड करना पड़ रहा है क्योंकि अच्छी नॉलेज देने वाले लोग उनकी अप्रोच में नहीं है। भोपाल समाचार लोगों को न्यूज़ के साथ नॉलेज भी दे रहा है। यदि आपके पास भी है ऐसी कोई जानकारी तो कृपया तुरंत उसे लिख भेजिए। बहुत जरूरी नहीं कि आप एक अच्छे लेखक हो लेकिन आपकी जानकारी यदि काम की है तो उसका शब्द श्रृंगार भोपाल समाचार की टीम कर लेगी। हमारा ई-पता तो आपको पता ही है EditorBhopalSamachar@gmail.com
Notice: this is the copyright protected post. do not try to copy of this article
(current affairs in hindi, gk question in hindi, current affairs 2019 in hindi, current affairs 2018 in hindi, today current affairs in hindi, general knowledge in hindi, gk ke question, gktoday in hindi, gk question answer in hindi,)


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here