Loading...    
   


ठाकुरों ने लव मैरिज करने वाली बेटी-दामाद को SAGAR से किडनैप किया, SHIVPURI में ऑनर किलिंग की तैयारी, तभी पुलिस आ गई

भोपाल। मध्यप्रदेश के शिवपुरी में चंदपाल सिंह चौहान एवं उनके परिवार वालों ने लव मैरिज करने वाली अपनी बेटी और उसके पति को सागर से किडनैप किया और शिवपुरी ले आए। लड़के की आंख फोड़ दी। दोनों को बेरहमी से पीटा और बंधक बनाया। यहां दोनों की ऑनर किलिंग की तैयारी की जा रही थी, तभी उनकी तलाश करते हुए सागर पुलिस पहुंच गई। ठाकुरों ने अपहरण के दौरान सास-ससुर के साथ बेरहमी से मारपीट की थी। लड़के के माता-पिता की हालत गंभीर है। सागर पुलिस ने चंदपाल सिंह चौहान, रजजन सिंह चौहान एवं हल्के चौहान को गिरफ्तार किया है। 

चंदपाल सिंह चौहान शिवपुरी जिले के अमोला थाना क्षेत्र में ग्राम राजगढ़ के रहने वाले हैं। उनकी बेटी की उम्र 20 वर्ष है। पुलिस का कहना है कि सागर जिले के खतौरा में रहने वाले पूरनराजा से उनकी बेटी ने लव मैरिज कर ली थी। वैलेंटाइन डे के दिन दोनों भाग गए थे। सागर में आकर दोनों ने विधिवत शादी कर ली थी। शादी को कोर्ट में रजिस्टर्ड कराया गया था। लड़का अपने परिवार के साथ कह रहा था कि तभी लड़की के घरवाले वहां पहुंच गए।

लड़की वाले घर आए, हमला किया और सरेआम नव युगल को किडनैप करके ले गए

दो दिन पहले युवती के पिता और चाचा, युवती को खोजते हुए सागर जा पहुंचे। यह तीनों आरोपियों ने पूरन सिंह के माता-पिता की बेरहमी से मारपीट की और सारे आम लड़की एवं लड़के को किडनैप करके अपने साथ ले गए। ग्रामीणों ने गंभीर रूप से घायल माता पिता को अस्पताल में भर्ती कराया है जहां से उन्हें इंदौर रेफर कर दिया गया। बताया जा रहा है कि दोनों की हालत काफी गंभीर है।

नव दंपति को गांव के बाहर एक कमरे में बंद कर रखा था

इस मामले में मालथौन थाना पुलिस ने अज्ञात आरोपीयों पर अपहरण का मामला दर्ज कर विवेचना में ले लिया था। इसी दौरान मालथौन पुलिस दोनों को खोजते अमोला थाना क्षेत्र में पहुंची। जहां पुलिस ने एकदम से उनके घर पर दविश न देते हुए पूरी चालाकी से मुखबिर से जानकारी जुटाई तो पता चला कि उक्त प्रेमी जोडे को युवती के परिजनों ने ही गांव के बाहर एक कमरें में बंद कर रखा है।

जब पुलिस पहुंची दोनों बेहद गंभीर हालत में थे

जिसपर से पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल के नेतृत्व में एसडीओपी जीडी शर्मा,थाना प्रभारी अमोला अमित चतुर्वेदी सहित मालथौन थाना प्रभारी राजेश सिह ने मिलकर उक्त स्थान पर दविश दी दोनों को मुक्त कराया। पुलिस टीम ने बताया कि जिस समय प्रेमी युगल को मुक्त कराया गया दोनों की हालत बेहद गंभीर थी। दोनों को बांधकर डाला गया था। 

लड़के की आंख छोड़ दी, लड़की पैरों पर खड़ी नहीं हो पा रही थी

पुलिस ने बताया कि बंधक बनाने के बाद लड़के को बहुत बेरहमी से पीटा गया है। इस दौरान लड़के की आंख फोड़ दी गई। लड़की को भी इतना पीटा गया है कि वह अपने पैरों पर खड़ी नहीं हो पा रही थी। ग्रामीणों का कहना है कि यदि पुलिस सही समय पर नहीं आती तो दोनों की लाशों का पता तक नहीं चल पाता।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here