जीतू पटवारी से पूछिए अतिथि विद्वानों के नियमितीकरण का क्या हुआ: दिग्विजय सिंह | MP NEWS
       
        Loading...    
   

जीतू पटवारी से पूछिए अतिथि विद्वानों के नियमितीकरण का क्या हुआ: दिग्विजय सिंह | MP NEWS

भोपाल। मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार के सरसंघचालक दिग्विजय सिंह ने इंदौर में बयान दिया है कि अतिथि शिक्षकों के नियमितीकरण की प्रक्रिया चल रही है। इस बारे में अधिक जानकारी के लिए उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी से सवाल कीजिए। श्री दिग्विजय सिंह पत्रकारों से बात कर रहे थे। याद दिला दें कि विधानसभा चुनाव के दौरान संविदा कर्मचारियों, अतिथि शिक्षकों एवं अतिथि विद्वानों के नियमितीकरण के आंदोलन में जीतू पटवारी ने बढ़ चढ़कर भाग लिया था। कांग्रेस के वचन पत्र में जीतू पटवारी ने ही इनके नियमितीकरण का वचन शामिल करवाया था।

ज्योतिरादित्य सिंधिया किसी के खिलाफ नहीं है, गलतफहमी है: दिग्विजय सिंह 

ज्योतिरादित्य सिंधिया के बयान के संदर्भ में प्रतिक्रिया देते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा कि सिंधिया किसी व्यक्ति के खिलाफ नहीं है। उनके बयान से एक गलतफहमी हुई है। दिग्विजय ने भरोसा दिलाया कि कमलनाथ सरकार कांग्रेस के चुनावी घोषणापत्र के मुताबिक सभी किसानों का दो लाख रुपये तक का कर्जा चरणबद्ध तरीके से माफ करेगी और मतदाताओं से किये गये अन्य वादे भी पूरे करेगी। उन्होंने कहा, "वचन पत्र किसी सरकार के पांच साल के कार्यकाल के लिये होता है। सूबे की कांग्रेस सरकार ने अभी केवल सवा साल का कार्यकाल पूरा किया है और इस अवधि में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कई चुनावी वादे पूरे भी कर दिये हैं।"

जीतू पटवारी से पूछिये कि इस प्रक्रिया (अतिथि विद्वानों का नियमितीकरण) के तहत कितना काम बाकी है?: दिग्विजय सिंह

72 वर्षीय राज्यसभा सदस्य ने कहा, "जहां तक राज्य के अतिथि शिक्षकों का प्रश्न है, उनके नियमितीकरण की सरकारी प्रक्रिया चल रही है। उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी इंदौर से ही ताल्लुक रखते हैं। आप (मीडिया) उनसे पूछिये कि इस प्रक्रिया के तहत कितना काम बाकी है?"