ग्वालियर की रानी बेटी ने गोल्ड जीता, भारत की लोकप्रिय रेसलर बन गई है रानी राणा | GWALIOR NEWS
       
        Loading...    
   

ग्वालियर की रानी बेटी ने गोल्ड जीता, भारत की लोकप्रिय रेसलर बन गई है रानी राणा | GWALIOR NEWS

Female wrestler rani Rana won gold " khelo India 2020"

ग्वालियर। ग्वालियर और मध्य प्रदेश के लोगों के लिए गर्व की अनुभूति दिलाने वाली खबर है। ग्वालियर की बेटी एवं महिला रेसलर रानी राणा ने ऑल इंडिया यूनिवर्सिटी लेवल के ' खेलो इंडिया गेम्स 2020' में गोल्ड मेडल जीत लिया है। रानी ने जब स्कूल लेवल पर रेसलिंग की शुरुआत की थी गांव के लोग उसकी वजह से उसके पूरे परिवार को ताने मारते थे। अब पूरा गांव रानी बिटिया पर गर्व करता है।

रानी राणा ने यूनिवर्सिटी खेलो इंडिया गेम्स 2020 में गोल्ड मैडल जीता

पत्रकार श्री सुशील कौशिक की एक रिपोर्ट के अनुसार उड़ीसा की राजधानी भुवनेश्नर में 'यूनिवर्सिटी खेलो इंडिया गेम्स 2020' का आयोजन किया गया। इसमें महिला रेसलिंग में देश के विश्वविद्यालयों से 8 महिला सुपर पहलवान शामिल हुई थीं। ग्वालियर की रानी राणा ने जलंधर की लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी की तरफ से इस प्रतियोगिता मे भाग लिया था। रानी राणा ने 55 किलो वर्ग में भाग लिया था, जिसमें रानी ने स्वर्ण पदक जीता। रानी के कोच अजय वैष्णव ने बताया इस स्पर्धा में ऑल इंडिया यूनिवर्सिटी के सुपर 8 खिलाड़ियों को ही भाग लेने की पात्रता थी। उन सभी खिलाड़ियों में रानी राणा ने अपनी श्रेष्ठता साबित करते हुए स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया है।

रेसलर रानी राणा ग्वालियर जिले के जखौरा गांव की रहने वाली है

गौरतलब है रेसलर रानी ग्वालियर जिले के जखौरा गांव की रहने वाली है। रानी राणा ने बताया कि छोटे से गांव में बेटियों ज्यादा पढ़ना तक नसीब नहीं होता था और छोटी उम्र में ही शादी कर विदा होना पड़ता था। इन हालातों में गांव की किसी बेटी का कुश्ती में करियर बनाना सपने जैसा था। जब उसने कुश्ती में करियर बनाने की बात कही तो घरवाले विरोध में आ गए लेकिन रानी तैयारी करती रही। रानी के दादा राम सिंह राणा कहते है कि जब रानी ने स्कूल लेवल पर कुश्ती लड़ना शुरु किया तो गांव वाले उसके परिवार वालों को ताना तक देते थे, लेकिन रानी ने इतिहास रचना शुरु किया तो गांव वाले उसकी तारीफ करने लगे हैं।

रेसलर रानी राणा की उपलब्धियां

पिछले साल रानी राणा ने 55 किलोग्राम वर्ग में नेशनल का गोल्ड मेडल जीता था। महाराष्ट्र के शिरडी में आयोजित नेशनल वुमन रेसलिंग चैंपियनशिप में रानी राणा ने एमपी को ऐतिहासिक कामयाबी दिलाई थी। रानी नेशनल रेसलिंग में गोल्ड मेडल जीतने वाली मध्य प्रदेश की पहली महिला रेसलर बनी थी। रानी राणा 5 सालों तक एमपी की युनिवर्सिटी चैम्पियन रह चुकी हैं और पिछले 2 सालों से राजस्थान-मध्यप्रदेश महिला केसरी प्रतियोगिता का खिताब भी जीत रहीं हैं।