Loading...    
   


दिल्ली-भोपाल शताब्दी एक्सप्रेस मुरैना, धौलपुर व ललितपुर में नहीं रुकेगी | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। लंबे समय से शताब्दी एक्सप्रेस के ललितपुर, मुरैना व धौलपुर स्टेशन पर रेलवे को ज्यादा आउटपुट नहीं रहा है, इससे नुकसान तो है वहीं शतादी का समय भी गड़बड़ा रहा है। अब रेलवे बोर्ड जल्द ही नई दिल्ली से हबीबगंज स्टेशन के बीच चलने वाली शताब्दी एक्सप्रेस का इन तीनों स्टेशन का ठहराव समाप्त करने जा रहा है। प्रतिदिन इन स्टेशनों से औसत दस से पंद्रह मुसाफिर ही चढ़ रहे हैं। अब रेलवे इन स्टेशनों की जगह बीना को नया ठहराव स्टेशन बनाया जाएगा। 

उल्लेानीय है कि शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेनों का संचालन जब शुरू हुआ था, उसमें एक ट्रेन (गाड़ी संख्या 12001/12002) दिल्ली से झांसी के मध्य भी चलाई गई थी। उस समय यह ट्रेन दिल्ली के बाद मथुरा, आगरा व ग्वालियर में ही रुकती थी। मगर, बाद में इसका विस्तार भोपाल और फिर एक जुलाई 2014 से हबीबगंज तक स्टेशन तक कर दिया गया।

वापसी में दिल्ली पहुंचने का टाइम अच्छा होने के कारण (रात 10.30 बजे) यह ट्रेन पूरी भरी होकर चलती थी। राजनैतिक कारणों से इस गाड़ी को मुरैना, धौलपुर व ललितपुर नए ठहराव स्टेशन दे दिए गए। इस कारण यह गाड़ी रात में पौने बारह बजे के बाद ही दिल्ली पहुंचती है।
रेलवे बोर्ड ने जिस उद्देश्य से मुरैना, धौलपुर व ललितपुर स्टेशन पर ठहराव दिया था, वह पूरा नहीं हो रहा है। इन स्टेशनों से गिने चुने यात्री ही सफर कर रहे हैं। इस कारण रेलवे बोर्ड अब इन स्टेशनों से शताब्दी एक्सप्रेस का ठहराव खत्म करने की तैयारी में है। साथ ही, बीना स्टेशन को नया ठहराव स्टेशन बनाया जाएगा।

ट्रेन के स्टॉपेज बढऩे से इस ट्रेन का समय पालन भी बिगड़ गया है। वापसी में यह ट्रेन अक्सर लेट हो जाती है। हबीबगंज में भी पौन घंटे ट्रेन रुकती है। इस अवधि में यात्रियों को चढऩा व उतरना भी पड़ता है। इस कारण ट्रेन में ठीक से सफाई भी नहीं हो पा रही है। रेलवे अफसर इस परेशानी को भली-भांति समझते हैं।    


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here