दामाद अपने ही ससुर का अपहरण कर ले गया, पुलिस की नाकाबंदी भी फेल, फरार | GWALIOR NEWS
       
        Loading...    
   

दामाद अपने ही ससुर का अपहरण कर ले गया, पुलिस की नाकाबंदी भी फेल, फरार | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। पत्नी और बच्चों के गायब होने के बाद भाइयों के साथ आए दामाद ने ससुर को बेरहमी से पीटा और कार में जबरन डाल कर ले गए। घटना कंपू थाना क्षेत्र के पारदी मोहल्ला खजांची बाबा की दरगाह की है। घटना का पता चलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और ससुर का अपहरण करने वाले दामाद की घेराबंदी कराई, लेकिन वह पुलिस के हाथ नहीं आया है। पुलिस ने सास की शिकायत पर दामाद और उसके साथियों के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज कर लिया है।

कंपू थाना क्षेत्र के पारदी मोहल्ला खजांची बाबा की दरगाह के पास रहने वाले शिवचरण गुर्जर खेती किसानी करता है। वह घर के बाहर बैठा था, तभी उसका दामाद रामनिवास गुर्जर अपने भाई हैप्पी गुर्जर और बंटी गुर्जर वहां पर पहुंचे और गाड़ी से उतरते ही रामनिवास व उसके भाइयों ने ससुर शिवचरण की मारपीट करना शुरू कर दिया। वहां पर बैठे लोग कुछ समझ पाते उससे पहले ही आरोपियों ने शिवचरण को जबरन कार में डाला और अपहरण कर ले गए। घटना का पता चलते ही पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शिवचरण की पत्नी की शिकायत पर अपहरण का मामला दर्ज कर लिया है।

अपहृत शिवचरण गुर्जर की पत्नी मायादेवी ने बताया कि पंद्रह साल पहले उन्होंने अपनी बेटी राजकुमारी का विवाह रामनिवास गुर्जर से किया था। रामनिवास मुम्बई में रहता था और वहां से राजकुमारी और बेटे धीरू उर्फ धीरज को वहां से भगा दिया था। जिस पर राजकुमारी उनके पास आकर रह रही थी और चार माह पूर्व रामनिवास ने बेटी तथा बेटे को मुम्बई बुलवाया था और यहां से उन्होंने राजकुमारी और धीरज को ट्रेन में बिठाया था, लेकिन राजकुमारी ना तो मुम्बई पहुंची और ना ही वापस आई। 

वारदात का पता चलते ही पुलिस ने शहर से बाहर जाने वाले रास्तों पर चेकिंग लगाकर कार अपहरण कर ले जाने वाले दामाद और उसके साथियों की तलाश में शहर में चेकिंग कराई, लेकिन हमलावर पुलिस के हाथ नहीं आए हैं। अपहृत की पत्नी ने दामाद तथा भाइयों पर हत्या की आशंका व्यक्त की है।