Loading...    
   


रद्दी में मिला भोपाल के नवाब का महात्मा गांधी को लिखा पत्र | BHOPAL NEWS

भोपाल। क्राइम ब्रांच ने पिछले दिनों भोपाल के महत्वपूर्ण दस्तावेजों से भरा एक ट्रक पकड़ा था। यह दस्तावेज भोपाल के नवाब के परिवार की एक महिला ने रद्दी के रूप में गुजरात के दो व्यापारियों को बेच दिए थे। पुलिस की छानबीन के दौरान इन दस्तावेजों में एक ऐतिहासिक पत्र भी मिला है। यह पत्र भोपाल के नवाब ने महात्मा गांधी को 1946 में लिखा था। 

बताया जा रहा है कि इस पत्र में भोपाल के नवाब हमीदुल्लाह खान ने 1946 में महात्मा गांधी को लिखा था कि वह मोहम्मद अली जिन्ना और उनके बीच चल रहे तनाव को सुलझाने में मदद कर सकते हैं। भोपाल के नवाब, गांधी और जिन्ना के बीच चल रहे विवाद में मध्यस्थता करना चाहते थे। यह तो सभी जानते हैं कि भोपाल के नवाब हमीदुल्लाह खान पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्नाह के काफी करीब थे। दोनों के बीच इतनी अधिक घनिष्ठता थी कि जब अंग्रेजों ने भारत की स्वतंत्रता का प्रस्ताव रखा तो भोपाल के नवाब ने भौगोलिक दृष्टि से संभावना होने के बावजूद अपनी रियासत भोपाल को पाकिस्तान में शामिल करने की कोशिश की।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि भोपाल के नवाब हमीदुल्लाह खान द्वारा लिखा गया पत्र उर्दू में है। इसका मूल ड्राफ्ट उन सभी दस्तावेजों में मिला जिन्हें रद्दी बताकर बेच दिया गया था। यह पत्र महात्मा गांधी तक पहुंचा या नहीं, इसका फिलहाल पता नहीं चल पाया है।आर्काइव के विशेषज्ञों ने बताया दस्तावेज इतिहास के मद्देनजर बहुत महत्वपूर्ण है। बताया जा रहा है कि इसके अलावा और भी कई महत्वपूर्ण दस्तावेज मिले हैं। भोपाल के नवाब की सील एवं कुछ ऐसी चीजें भी मिली है जिनका उपयोग भोपाल के नवाब की संपत्तियों या उनके पुराने दस्तावेजों में किया जा सकता था।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here