Loading...

कंपनी अवैध खदान खोद गई थी, बालक तालाब समझकर कूद गया, मौत | BHOPAL NEWS

भोपाल। गोविंदपुरा इंडस्ट्रियल एरिया में स्थित अवैध खदान में डूबने से 16 वर्षीय बालक की मौत हो गई। इस खदान में पानी भरा हुआ था। बाला इसे तालाब समझकर इसमें नहाने के लिए कूद गया। अत्यधिक गहराई होने के कारण बालक पानी में डूबता चला गया और उसकी मौत हो गई। 

आसपास के लोगों ने बताया कि गोविंदपुरा इंडस्ट्रियल एरिया में एक कंपनी ने मिट्टी के लिए गहरा गड्ढा को दिया था। यह काफी गहरा खदान की तरह है। बारिश के दिनों में इसमें पानी भर गया। दूर से देखने पर यह छोटा सा तालाब लगता है। 16 वर्ष का बालक किसी के पास बदरिया चला रहा था। उसने इस अवैध गहरी खदान को तालाब समझा और नहाने के लिए कूद गया। गहराई अधिक होने के कारण वह डूब गया और उसकी मौत हो गई। 

एएसआई डीएस सिंह के मुताबिक एक चरवाहे की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची थी। पुलिस ने गोताखोरों की मदद से किशोर का शव पानी से बाहर निकलवाया। उसकी पहचान आदर्श नगर झुग्गी निवासी 16 वर्षीय विनोद कुमार के रूप में हुई। वह यहां अपने छोटे भाई और मां के साथ रहता था। सोमवार को वह खाना बनाने के लिए लकड़ियां बीनने घर से निकला था। 

कंपनी मालिक के खिलाफ FIR दर्ज होनी चाहिए 

पुलिस ने मामले में मर्ग कायम किया है। लिखा पढ़ी के दौरान अवैध रूप से खोदे गए खड़ा नमक अड्डे को तालाब लिखा गया है जबकि यह ना तो प्राकृतिक तालाब है और ना ही सरकार द्वारा बनवाया गया था तालाब। एक कंपनी ने अपने फायदे के लिए जानलेवा गड्ढे तैयार किया था। प्रशासन ने अवैध उत्खनन करने वाली कंपनी के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की। अवैध उत्खनन के कारण बने गड्ढे को भी भरवाया नहीं गया। कंपनी मालिक के लालच और लापरवाही के कारण बालक की मौत हुई है। कंपनी मालिक के खिलाफ FIR दर्ज होनी चाहिए।