Loading...    
   


मुंडन के बाद महिला अतिथि विद्वान के केश सोनिया, राहुल और कमलनाथ को भेजे गए | ATITHI VIDWAN NEWS

भोपाल।  अतिथिविद्वान नियमितीकरण संघर्ष मोर्चा के प्रवक्ता डॉ मंसूर अली के अनुसार अब तक हमारी मांगों पर कोई भी चर्चा करने से बच रही कमलनाथ सरकार आखिर अतिथिविद्वानों के प्रति इस तरह का व्यवहार क्यों कर रही है। हमारी मांगे कोई नई नही है। हमने केवल वही बातें अपने मांग पत्र में रखी है जिसका सरकार ने अपने वचनपत्र में वादा किया था। तो फिर स्वयं अपनी कही बात से कांग्रेस सरकार ऐसे कैसे पलट सकती है।

महिला अतिथिविद्वान ने अपने केश सोनिया गांधी सहित कई नेताओं को भेजे

अतिथिविद्वान नियमितीकरण संघर्ष मोर्चा के संयोजक डॉ देवराज सिंह के अनुसार विगत दिवस शाहजहांनी पार्क भोपाल में महिला अतिथिविद्वान डॉ शाहीन खान ने सरकार द्वारा अब तक नियमितीकरण न किये जाने एवं लगातार अतिथिविद्वानों के शोषण के विरोध में अपने केशत्याग दिये थे। जिसे उन्होंने आज डाक द्वारा कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी एवं मुख्यमंत्री कमलनाथ को अपने केश डाक से प्रेषित किये हैं। उन्होंने कहा है कि कांग्रेस के राज में मध्य प्रदेश में बेटियों का क्या हाल है, ये मेरे कटे हुए केश उन्हें पूरी कहानी बयान करेंगे।

80 दिनों से जारी आंदोलन सरकार की कार्यशैली का नमूना है

अतिथिविद्वान नियमितीकरण संघर्ष मोर्चा के संयोजक डॉ सुरजीत भदौरिया के अनुसार शाहजाहानी पार्क भोपाल का आंदोलन लगातार 80 दिनों से जारी है, किन्तु सरकार द्वारा इस ओर अब तक कोई संज्ञान न लिया जाना सरकार की निरंकुश एवं संवेदनहीन कार्यशैली की गवाही दे रहा है। अपने अधिकारों के लिए संघर्ष करते हुए कई साथी काल के गाल में समा गए। कई गंभीर बीमारियों का शिकार हुए, किन्तु सरकार चैन की बंसी बजा रही है।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here