अतिथि शिक्षक पोलिंग बूथ तक जाकर कमलनाथ सरकार की वादा खिलाफी बताएंगे | ATITHI SHIKSHAK NEWS
       
        Loading...    
   

अतिथि शिक्षक पोलिंग बूथ तक जाकर कमलनाथ सरकार की वादा खिलाफी बताएंगे | ATITHI SHIKSHAK NEWS

atithi shikshak protest news today mp

भोपाल। अतिथि शिक्षकों के जन सत्याग्रह के 58 वां दिन भी आंदोलन जारी है। अब तक परिवार और स्कूलों से दूर असुरक्षित वातावरण में रहते हुए भारी मुश्किल से जूझ रहे हैं। रात का भोजन तो गांधी आलय विचार सेवा संघ के द्वारा दिया जाता है, पर दोपहर के भोजन के लिए कोई व्यवस्था नहीं कर पाते हैं। दो महीने से एक ही समय के भोजन की दम पर जिंदा हैं। संगठन के संस्थापक जन सत्याग्रही पी.डी.खैरवार के साथ सामूहिक शपथ ली गई है कि हाल ही में होने जा रहे स्थानीय निकाय चुनावों और विधानसभा उपचुनावों में सरकार की वादाखिलाफी नीयत और नीतियों का प्रचार प्रसार किये जाने का काम किया जायेगा। 

आरोप लगाया गया है कि सरकार ने तीन महीने के स्थान पर तेरह महीने का समय वचन भजन करते ही लगा दिए हैं। अब भी कोई ठोस नीति दिखाई नहीं दे रही है। अब तो आपस में ही आरोप प्रत्यारोपों का दौर चालू हो गया है। नीतिगत सुझाव देने पर मुख्यमंत्री जी जन विरोधी बयान करने लग गये हैं। इधर कांग्रेस सरकार के समयांतराल में ही अब तक हजारों की संख्या में अतिथि शिक्षक बेरोजगार हो चुके हैं। जिनके परिवारों पर आर्थिक संकट हमेशा के लिए गहराया हुआ है‌। इस तरह की स्थितियों का शिकार होते आत्महत्याएं जैसे विचार पनपने लगे हैं।वचन पत्र की ओर सरकार का ध्यान लाये जाने के मुख्य उद्देश्य से अनेकों प्रयासों के बाद अंठावन दिनों से राजधानी के शाहजहांनी पार्क में वचन-निभाओ जन सत्याग्रह जारी है।अब तक अनेकों प्रदर्शशनों के बाद विगत पखवाड़े भर से तो भूख हड़ताल कर भी यह कोशिश लगातार जारी है। तक भी सरकार का ध्यान इस ओर नहीं जा रहा है। 

अतिथि शिक्षकों ने जानकारी दी है कि आगे आंदोलन को अहिंसात्मक और लोकतांत्रिक तरीके से जारी रखा जाएगा। संपूर्ण प्रदेश में जिला मुख्यालय और विकासखंड मुख्यालयों में धरना प्रदर्शन कर जनता जनार्दन की बीच अतिथि शिक्षक पहुंचेंगे और वर्तमान सरकार की वादा खिलापी नीतियों का प्रचार प्रसार करेंगे। सत्याग्रही अतिथि शिक्षक द्वारका प्रसाद तिवारी और नीरज कुमार अरजरिया के नेतृत्व में ज्योतिरादित्य सिंधिया के जनसंपर्क कार्यक्रम के दौरान कुड़ीला खरगापुर में सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी की गई। जिस पर सिंधिया जी ने रोकते हुए वचन पत्र का पालन कराने पर फिर से जवाबदारी ली है। 

सत्याग्रहियों आगे बताया गया है, कि अतिथि शिक्षक अब शाहजहांनी पार्क में डटे रहकर शासन की दमनकारी शोषणकारी नीतियों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी रखेंगे। सुनील परिहार प्रदेश अध्यक्ष ने बताया है कि मंगलवार को शिवसेना परिवार मध्य प्रदेश का समर्थन प्राप्त हुआ है। शिवसेना प्रदेश अव्यक्ष गुप्ता जी ने समर्थन देते हुए कहा है,कि सरकार ने जल्द ही ठोस निर्णय नहीं लेती है,तो एक सप्ताह के भीतर अतिथि शिक्षकों के समर्थन पर सड़कों पर उतरकर सरकार को संदेश देंगे।

इस तरह से विगत 2 महीनों से दर्जनों संगठनों का समर्थन प्राप्त होते आ रहा है। जो जल्द ही एक साथ सड़कों पर उतरकर सरकार की अतिथि शिक्षकों के विरोधी नीतियों का विरोध करेंगे।संगठन के प्रवक्ता जगदीश शास्त्री ने कहा है,कि बहुत जल्द संपूर्ण प्रदेश के अतिथि शिक्षकों का जंगी प्रदर्शन भोपाल की राजधानी की भूमि में करने पर चिंतन लगातार जारी है। आज मुख्य रूप से नवीन शर्मा ,अनवर अहमद, अखिलेश सोलंकी, अनीता हरचंदानी, द्वारका प्रसाद तिवारी,सर्जन सिंह शिल्पकार, रामस्वरूप गुर्जर,लखन सिंह राठौर,गौरव राठौर, फहीम सरफरोश,अजय तिवारी,कमलेश , नीरज अरजरिया,अखिलेश सोलंकी आदि नेतृत्व कर्ता उपस्थित रहे।