Loading...

ग्वालियर में रात 10:30 के बाद डीजे बजा तो FIR दर्ज होगी | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। जिले में अमन और शांति का माहौल बना रहे, यह जवाबदारी शहर के हर नागरिक की है। जिला शांति समिति ने शांति और सदभाव की अपील की है। कलेक्टर अनुराग चौधरी की अध्यक्षता में शनिवार को कलेक्ट्रेट कार्यालय में जिला शांति समिति की बैठक आयोजित हुई। बैठक में पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन, संत कृपाल सिंह, साडा के पूर्व अध्यक्ष राकेश जादौन, समिति के सदस्य भूपेन्द्र जैन, विनायक गुप्ता, कमल माखीजानी, राजू फ्रांसिस, गोडियाले सहित विभागीय अधिकारियों में एडीएम टी एन सिंह, अपर कलेक्टर रिंकेश वैश्य, एडिशनल एसपी सतेन्द्र तोमर, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे। 

डीजे संचालक, मैरिज गार्डन संचालक तथा आयोजक परिवार के विरूद्ध मामला दर्ज होगा

बैठक में गत दिनों शहर में कुछ विवाद के कारण शहर में अनर्गल चर्चाओं के दृष्टिगत जिला शांति समिति की बैठक आहुत की गई। बैठक में कलेक्टर अनुराग चौधरी ने कहा कि शहर में शांति और सदभाव का माहौल बना रहे, यह हम सबकी जवाबदारी है। शांति समिति के सभी पदाधिकारी अपने-अपने क्षेत्र में शांति और सदभाव माहौल बना रहे, इसके लिए कार्य करते रहें। 

बैठक में सर्व सम्मति से यह निर्णय लिया गया कि हाईकोर्ट के निर्देश के पालन में जारी दिशा-निर्देशों में शादी समारोह एवं अन्य उत्सव समारोह में डीजे का संचालन रात्रि 10.30 बजे तक ही किया जाना है। रात्रि 10.30 बजे के पश्चात किसी भी समारोह में डीजे के संचालन की अनुमति नहीं रहेगी। निर्धारित अवधि के पश्चात भी अगर डीजे का संचालन पाया गया तो डीजे संचालक, मैरिज गार्डन संचालक तथा आयोजन करने वाले परिवार के विरूद्ध पुलिस प्रकरण कायम किया जायेगा। 

सोशल मीडिया पर चौकीदारी शांति समिति के लोग करेंगे

पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन ने बैठक में कहा कि शहर में अगर कोई घटना घटी है तो शासन के नियमानुसार पुलिस द्वारा कार्रवाई की जायेगी। किसी भी घटना को लेकर आरोप-प्रत्यारोप आपस में नहीं लगाना चाहिए। कानून के दायरे में जो कार्रवाई अपेक्षित है पुलिस वह कार्रवाई अवश्य करेगी। उन्होंने शांति समिति की बैठक में यह भी अपील की कि सोशल मीडिया, वॉट्सएप, फेसबुक पर भी आपत्तिजनक पोस्ट नहीं की जाना चाहिए। समिति के सभी लोग अपने-अपने स्तर से भी लोगों को सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट न करने की अपील करें। बैठक में शांति समिति के पदाधिकारियों ने भी अपने-अपने विचार रखे। सभी ने शहर में शांति और सदभाव का माहौल बनाए रखने में हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया।