Loading...    
   


सागर में दलित युवक को जिंदा जलाया, भाजपा कमलनाथ सरकार के खिलाफ मैदान में | MP NEWS

भोपाल। दिनांक 14 जनवरी को मध्य प्रदेश के सागर में समुदाय विशेष के लोगों ने मिलकर एक दलित युवक को जिंदा जला दिया। उसे गंभीर हालत में भोपाल रेफर किया गया था। भोपाल में उसका इलाज चल रहा है परंतु हालत नाजुक है। घटना के 4 दिन बाद मामले ने तूल पकड़ लिया है क्योंकि भारतीय जनता पार्टी के तमाम नेता कमलनाथ सरकार के खिलाफ मैदान में उतर आए हैं। 

मोतीनगर पुलिस के अनुसार धर्मश्री आवासीय कॉलोनी में रहने वाले धनप्रसाद (24) पुत्र निजाम अहिरवार पर कालोनी के छुट्टू, अज्जू पठान, कल्लू और इरफान ने केरोसिन उड़ेलकर आग लगा दी। पुलिस ने बताया कि दोनों परिवारों के बीच इससे पहले भी विवाद हुआ था। तब पुलिस ने दोनों पक्षों को समझाइश देकर छोड़ दिया था। इसी से नाराज होकर आरोपियों ने 14 जनवरी की रात आरोपियों ने ने परिजनों से मारपीट करते हुए धनप्रसाद को घेर लिया और उसे आग लगा दी। मोतीनगर पुलिस ने आरोपी छुट्टू, अज्जू, कल्लू, इरफान के खिलाफ धारा 294, 323, 452, 307, 34 व एससीएसटी एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया है। इनमें से तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि चौथा फरार है।

भाजपा ने मुद्दा बनाया 

भारतीय जनता पार्टी ने इस मामले को मुद्दा बना दिया है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष राजेश सिंह का कहना है कि 15 से 20 लोगों ने इस घटना को अंजाम दिया है जबकि पुलिस ने केवल 4 लोगों को नामजद किया। बीजेपी प्रदेश उपाध्यक्ष और सागर जिले के नरयावली विधानसभा क्षेत्र के विधायक प्रदीप लारिया का आरोप है कि एक समुदाय के लोगों ने पिछले दिनों उससे मारपीट भी की थी। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस की तरफ से मारपीट को लेकर कार्रवाई की गई होती तो जिंदा जलाने की कोशिश की यह घटना नहीं होती।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here