आय, जाति और मूल निवासी प्रमाण पत्र की होम डिलीवरी शुरू | MP NEWS
       
        Loading...    
   

आय, जाति और मूल निवासी प्रमाण पत्र की होम डिलीवरी शुरू | MP NEWS

भोपाल। मध्यप्रदेश में आय प्रमाण पत्र, जन्म प्रमाण पत्र, मूल निवासी प्रमाण पत्र, और जाति प्रमाण पत्र सहित 24 विभागों कि 102 सेवाएं ऑनलाइन के साथ हम डिलीवरी भी शुरू कर दी गई है। इसका शुभारंभ इंदौर से हुआ था। कुछ ही दिनों में यह भोपाल, ग्वालियर एवं जबलपुर में भी शुरू हो जाएगी और उसके बाद पूरे मध्यप्रदेश में।

आय, जाति और मूल निवासी प्रमाण पत्र की होम डिलीवरी के लिए क्या करना होगा 

मध्य प्रदेश के 24 विभागों की 102 सेवाएं जिनमें आय, जाति और मूल निवासी प्रमाण पत्र भी शामिल है, की होम डिलीवरी के लिए उम्मीदवारों को लोक सेवा केंद्र पर आवेदन करते समय होम डिलीवरी का ऑप्शन चुनना होगा। इसी तरह लोक सेवा प्रबंधन की वेबसाइट mpedistrict.gov.in से भी ऑनलाइन सेवा के लिए आवेदन कर सकेगे। घर बैठे सेवा का प्रमाण पत्र लेने के लिए 50 रुपए अतिरिक्त राशि चुकाना होगी।

दरअसल, 24 विभागों की 102 सेवाओं के आवेदन करने और प्रमाण पत्र बनने के बाद लेने के लिए लोकसेवा केंद्र आना पड़ता है। इसके चलते व्यक्ति का समय भी खराब होता है और परेशान भी होना पड़ता है। लोगों की सहूलियत के लिए सरकार नई व्यवस्था लागू करने जा रही है। ताकि बार-बार व्यक्ति को लोकसेवा केंद्र के चक्कर न लगाना पड़े। नई व्यवस्था के तहत लोकसेवा केंद्र की चिह्नित सेवाओं के लिए व्यक्ति को ऑफलाइन और ऑनलाइन आवेदन करते समय कुरियर सेवा का ऑप्शन भरना होगा। इसके बाद कुरियर से आपका प्रमाण पत्र दिए गए पते पर पहुंच जाएगा। कलेक्टोरेट, टीटी नगर, कोलार और बैरसिया के लोकसेवा केंद्रों पर रोजाना करीब 400 आवेदन आते हैं।

इनके नहीं आ रहे आवेदन- 

एफआईआर कॉपी, पोस्टमार्टम की सत्य प्रतिलिपि, गुमाश्ता लायसेंस, गुमाश्ता नवीनीकरण, बंदूक लाइसेंस नवीनीकरण के आवेदन लोक सेवा केंद्रों में नहीं आ रहे हैं, जबकि विवाह पंजीयन सहित एक दर्जन सेवाओं के इक्का-दुक्का आवेदन आते हैं। 

प्रमाण-पत्रों के दस्तावेज होंगे कम

बताया गया है कि आय, मूल निवास सहित एक दिन में बनने वाले प्रमाण पत्रों के लिए दस्तावेजों को कम किया जाएगा। इसके लिए मंथन चल रहा है। लोक सेवा गारंटी योजना के तहत अब 446 सेवाएं दी जा रही हैं, जिसमें अलग-अलग विभागों से मिलने वाले प्रमाण पत्र सहित खसरा-खतौनी और नक्शा शामिल है। हाल ही में इस पोर्टल से 150 नई सेवाओं को जोड़ा गया है।