Dr Chandresh Shukla: कई भाजपा नेताओं से मुलाकात, हाई प्रोफाइल लाइफ़स्टाइल
       
        Loading...    
   

Dr Chandresh Shukla: कई भाजपा नेताओं से मुलाकात, हाई प्रोफाइल लाइफ़स्टाइल

भोपाल। मध्य प्रदेश के राज्यपाल श्री लालजी टंडन को अमित शाह का फर्जी फोन करवाने वाले डॉक्टर चंद्रेश शुक्ला की कई कहानियां सामने आने लगी है। बताया जा रहा है कि डॉक्टर चंद्रेश शुक्ला की पहचान केवल दांतो के डॉक्टर के रूप में नहीं थी बल्कि उसकी मुलाकात कई बड़े भाजपा नेताओं से भी होती थी। वह खुद को आरएसएस का प्रभावशाली कार्यकर्ता बताता था। मध्य प्रदेश में सरकार बदलने के बाद उसने कांग्रेस के कई नेताओं और जबलपुर के एक मंत्री से भी नजदीकियां बढ़ा ली थी। हाल ही में उसने 1 करोड़ रुपए की लग्जरी कार खरीदी है। उसकी डिलीवरी आने वाली थी इससे पहले डॉ चंद्रेश गिरफ्तार हो गया। 

डॉक्टर चंद्रेश शुक्ला हाई प्रोफाइल लोगों से नज़दीकियां बढ़ाता था


डॉक्टर चंद्रेश शुक्ला के बारे में कई तरह की कहानियां सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि वह हाई प्रोफाइल लोगों से मेल मुलाकात करता रहता था। भाजपा के कई नेताओं के साथ उसके फोटो सोशल मीडिया पर हैं। लोगों का कहना है कि भाजपा के बड़े नेताओं के साथ अपने संपर्क बताकर उसने कई काम करवाए हैं। 

डॉक्टर चंद्रेश शुक्ला: काफी समय से राजभवन में आना जाना था 


बताया जा रहा है कि डॉक्टर चंद्रेश शुक्ला का काफी पहले से मध्य प्रदेश के राजभवन में आना जाना था। वह राजभवन की सारी व्यवस्थाओं से परिचित था। इसीलिए उसने फर्जी फोन कर आने की प्लानिंग की। लोगों का कहना है कि शहर में वह खुद को राज्यपाल का ऑफिशियल डॉक्टर बताता था। इसके चलते लोग उसके प्रभाव में आ जाते थे।

डॉक्टर चंद्रेश शुक्ला भाजपा नेताओं से नजदीकी के कारण जबलपुर मेडिकल यूनिवर्सिटी का कार्य परिषद सदस्य बना 


बताया जा रहा है कि भारतीय जनता पार्टी के बड़े नेताओं से नजदीकी के कारण डॉक्टर चंद्रेश शुक्ला मध्य प्रदेश मेडिकल यूनिवर्सिटी की कार्यपरिषद का सदस्य बन गया था। आरोप है कि कार्य परिषद का सदस्य होने के नाते उसने कई मेडिकल कॉलेज के संचालकों को परेशान किया। खुद को एक बड़ी पॉलीटिकल पावर बताकर मेडिकल कॉलेज संचालकों से लाभ भी हासिल किए। 

डॉक्टर चंद्रेश शुक्ला मध्य प्रदेश मेडिकल यूनिवर्सिटी का कुलपति बनना चाहता था 


बताया जा रहा है कि जबलपुर स्थित मेडिकल यूनिवर्सिटी की कार्य परिषद का सदस्य रहने के दौरान उसने यूनिवर्सिटी का कुलपति बनने की प्लानिंग शुरू कर दी थी। आरोप है कि इस पद पर रहते हुए वह मोटी कमाई करना चाहता था। इसी के चलते वह किसी भी कीमत पर यूनिवर्सिटी का कुलपति बनना चाहता था। राजभवन में उसका इंटरव्यू हो चुका था परंतु उसने अपनी नियुक्ति के लिए पॉलीटिकल प्रेशर का उपयोग करने का प्लान किया। इसी के चलते वह गिरफ्तार हो गया।

डॉक्टर चंद्रेश शुक्ला: सुर्खियों में रहने के लिए शादी में दिव्यांग बच्चों को बुलाया था 

जनक चर्चाओं में यह भी बताया जा रहा है कि डॉक्टर चंद्रेश शुक्ला हाई प्रोफाइल सोसाइटी में सुर्खियों में बने रहने के लिए काफी एक्टिविटीज करता था। यहां तक कि उसने अपनी शादी जो एक बड़े होटल से हुई थी, में दिव्यांग बच्चों का आमंत्रित किया। ताकि वह खुद को एक संवेदनशील व्यक्ति साबित कर सके। 

डॉक्टर चंद्रेश शुक्ला: भोपाल में डेंटल वर्ल्ड नाम से आलीशान अस्पताल 


भाजपा के हाईप्रोफाइल नेताओं से संपर्क के बाद डॉक्टर चंद्र शुक्ला ने भोपाल के साकेत नगर में डेंटल वर्ल्ड के नाम से एक आलीशान अस्पताल बनाया था। इस अस्पताल में बड़े अधिकारियों एवं नेताओं का इलाज किया जाता था। कहा जा रहा है कि यह भोपाल का सबसे महंगा दांतो का अस्पताल था। 

डॉक्टर चंद्रेश शुक्ला इन दिनों जबलपुर की एक मंत्री से नजदीकियां बढ़ा रहा था

मध्यप्रदेश में जब तक भारतीय जनता पार्टी की सरकार रही डॉक्टर चंद्रेश शुक्ला हमेशा वह सब हासिल करता रहा जोशी चाहिए था। सरकार बदलने के बाद उसने जबलपुर में रहने वाले एक मंत्री से नजदीकियां बढ़ाना शुरू कर दी। यहां बता दें कि डॉक्टर चंद्र शुक्ला शुक्ला की ससुराल जबलपुर में है। इसलिए जबलपुर शहर उसके लिए काफी कंफर्टेबल था। 

डॉक्टर चंद्रेश शुक्ला: हाई प्रोफाइल लाइफ़स्टाइल, एक करोड़ की कार 


डॉक्टर चंद्रेश शुक्ला को हाई प्रोफाइल लाइफ़स्टाइल काफी पसंद है। कमलनाथ सरकार के मंत्रियों को प्रभावित करने के लिए उसने हाल ही में 1 करोड़ रुपए की कार बुक की है। कार की बुकिंग इंदौर स्थित एक ऑटोमोबाइल शोरूम से की गई है। यह लग्जरी एसयूवी कार 10 दिन बाद डिलीवरी होने वाली है। 

डॉक्टर चंद्रेश शुक्ला: डेंटल काउंसिल के चुनावों में फर्जीवाड़े का आरोप 


डॉक्टर चंद्र शुक्ला पर डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया के चुनाव में फर्जीवाड़े का आरोप है। उनके खिलाफ जांच चल रही है। यदि दोषी पाए गए तो उनकी डिग्री छीन ली जाएगी। आरोप है कि डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया के सदस्य के लिए प्रदेश में हुए चुनाव फर्जी मतपत्र छपाकर बांट दिए थे। मप्र डेंटल काउंसिल के प्रेसीडेंट डॉ. देशराज जैन ने इसकी शिकायत कई जगह की थी, लेकिन चंद्रेश ने अपने प्रभाव के दम पर दबा दिया था। खुद को हाई प्रोफाइल बताने के लिए देश-विदेश में डेंटिस्टों की कांफ्रेंस में भी भाग लिया था। मप्र डेंटल काउंसिल के नियमों के अनुसार सजा होने पर चंद्रेश शुक्ला का डेंटल काउंसिल से पंजीयन निरस्त कर दिया जाएगा।

डॉक्टर चंद्रेश शुक्ला एक फिल्म भी बना रहा था 

डॉक्टर चंद्र शुक्ला की सोशल मीडिया प्रोफाइल से पता चलता है कि वह एक फिल्म भी बना रहा था। इस फिल्म में किसका पैसा लगा है यह जांच का विषय है। फिल्म का नाम 'मेरे देश की धरती' बताया गया है। सोशल मीडिया पर इस फिल्म के मुहूर्त की क्लिप मौजूद है।