Loading...

भोपाल में एक और हनीट्रैप रैकेट का खुलासा, लड़की गिरफ्तार | BHOPAL NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में एक और हनी ट्रैप रैकेट का खुलासा हुआ है। यह रैकेट मालदार किसानों को अपना शिकार बनाता था। रैकेट में तीन युवक और एक लड़की शामिल है। पुलिस ने लड़की को गिरफ्तार कर लिया है। उसके साथियों की तलाश की जा रही है। अयोध्या नगर थाना पुलिस मामले की जांच कर रही है। इस हनीट्रैप रैकेट ने हाल ही में सीहोर जिले के किसान को अपना शिकार बनाया था।

एएसपी संजय साहू ने बताया कि श्यामपुरए सीहोर के रहने वाले विष्णु मीणा किसान है। वो 26 दिसंबर को अपने दो दोस्तों हेम सिंह और मोहित दांगी के साथ कार में नए टायर डलवाने के लिए भोपाल आया था। पुलिस ने बताया कि विष्णु के एक दोस्त ने निशातपुरा में रहने वाली अपनी एक परिचित युवती को मोबाइल पर कॉल किया। युवती ने तीनों युवकों को देवलोक अस्पताल के पास नरेला जोड़ स्थित एक किराए के फ्लैट में बुलाया। तीनों जैसे ही फ्लैट पर पहुंचे तो युवती चाय बनाने का झांसा देकर कमरे से बाहर चली गई। उसी दौरान तीन अजनबी युवक कमरे में पहुंचे। तीनों युवक खुद को सीआईडी अधिकारी बता रहे थे। उन्होंने बंदूक निकाली और विष्णु और उसके दोस्तों पर तान दी। आरोपियों ने उनसे 80 हजार रुपए लूट लिए और तीन हजार रुपए ऑनलाइन मोबाइल से ट्रांसफर करवाए।

युवती गिरफ्तार
पता चला है कि गैंग में शामिल युवती पहले युवकों को अपने जाल में फंसाती है। उन्हें अकेले में फ्लैट में बुलाती है। उसके बाद प्लानिंग के तहत उसके तीनों साथी वहां आते हैं और फिर लूटपाट करते हैं। यह आरोपी खुद को पुलिस, सीआईडी अधिकारी बताकर लोगों से लूटपाट करते हैं। किसान विष्णु मीणा के साथ भी इसी तरह से घटना को अंजाम दिया गया। घर लौटने पर जब कार में नए टायर नहीं दिखे, तो विष्णु के परिवार ने उनसे पैसों के बारे में पूछताछ की। पुलिस ने आरोपी युवती के मोबाइल फोन नंबर के जरिए उसे गिरफ्तार कर लिया। आरोपी युवती के एक साथी का नाम योगेंद्र है। पुलिस अब दूसरी वारदातों के बारे में आरोपियों से पूछताछ कर रही है।