8 जनवरी भारत बंद: क्या खुलेगा क्या बंद रहेगा यहां पढ़िए | 8 JAN BHARAT BAND NEWS

नई दिल्ली। सोशल मीडिया पर 8 जनवरी भारत बंद का मैसेज चल रहा है। लोग कंफ्यूज है। क्या पूरा भारत बंद है। सुबह बच्चों को स्कूल भेजें या नहीं। कहीं कोई उपद्रव तो नहीं हो जाएगा। देशभर से हिंसा की खबरें आ रही हैं। क्या 8 जनवरी भारत बंद में भी हो सकती है। तमाम सारे सवालों से सारा देश सहमा हुआ है। आइए आपको बताते हैं 8 जनवरी को क्या-क्या बंद रहेगा। यह बंद किस प्रकार का होगा और किस किसको प्रभावित करेगा। 

8 जनवरी 2020 बुधवार को भारत की कई सारी ट्रेड यूनियनों ने भारत बंद का आह्वान किया है। या पॉलीटिकल बंद नहीं है। इसमें किसी जाति या संप्रदाय के लोग शामिल नहीं है। 8 जनवरी भारत बंद के दिन ट्रांसपोर्ट और बैंकिंग सेवाएं प्रभावित हो सकती है। सेंट्रल ट्रेड यूनियन्स और बैंक यूनियन नरेंद्र मोदी सरकार की कथित राष्ट्र विरोधी और जनता विरोधी नीतियों के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे। ट्रेड यूनियन्स का दावा है कि उन्होंने केंद्रीय श्रम मंत्री संतोष गंगवार के साथ बैठक करने के बाद बंद का आह्वान किया है। दावा किया जा रहा है कि 25 करोड़ लोग इस देशव्यापी हड़ताल में शामिल हो सकते हैं। 

बैंकिंग सुविधाओं पर क्या होगा असर 

देशव्यापी भारत बंद का बैंकिंग सुविधाओं पर असर पड़ सकता है। लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। इंडियन बैंक्स असोसिएशन (आईबीए) ने एक बयान में कहा कि 8 जनवरी को होने वाले भारत बंद में 6 बैंक यूनियन शामिल होंगी। बैंकिंग सुविधाएं जैसे एटीएम के अलावा शाखा से पैसे निकालने और जमा करने जैसी सुविधाओं पर हड़ताल का असर पड़ सकता है। हालांकि ऑनलाइन ट्रांजेक्शन्स जैसे एनईएफटी, आईएमपीएस पर कोई असर नहीं पड़ेगा। वहीं प्राइवेट बैंकों पर इसका असर नहीं होगा। प्राइवेट बैंकों का संचालन नियमित दिनों के अनुसार होगा।

क्या स्कूल बंद रहेंगे? 

8 जनवरी भारत बंद का आह्वान करने वाली संस्थाओं में किसी भी प्रकार की स्कूल या स्कूलों की यूनियन शामिल नहीं है। स्कूलों की छुट्टी के लिए कोई ऐलान नहीं किया गया है। प्रदर्शनकारी भी स्कूलों को बंद कराने के लिए नहीं आएंगे। प्रदर्शनकारियों के बच्चे भी अन्य दिनों की भांति स्कूल जाएंगे। स्कूल पर भारत बंद का कोई असर नहीं होगा। एहतियात के तौर पर पुलिस तैनात रहेगी।

8 जनवरी को होने वाली परीक्षाओं का क्या होगा?

8 जनवरी को यूपीटीईटी 2019, जेईई मेन्स और आईसीएआर एनईटी जैसी अहम परीक्षाएं होनी हैं। ट्रांसपोर्ट सुविधाओं पर प्रभाव पड़ने की स्थिति में छात्र-छात्राओं को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है लेकिन बंद के कारण इन परीक्षाओं को रद्द नहीं किया गया है। इस बंद में किसी भी प्रकार की छात्र यूनियन शामिल नहीं है। एग्रीकल्चर साइंटिस्ट्स रिक्रूटमेंट बोर्ड (ASRB), ICAR NET 2019 की परीक्षा भी 8 जनवरी से 10 जनवरी के बीच देशभर में होनी है। स्टूडेंट्स घर से निकलने से पहले ट्रैफिक एडवाइजरी जरूर देख लें।

यातायात सुविधाओं पर क्या होगा असर 

भारत बंद में चूंकि कई ट्रेड यूनियन्स भी हिस्सा ले रही हैं। लिहाजा यातायात सुविधाओं पर भी असर पड़ेगा। लेकिन इमरजेंसी सर्विसेज जैसे दूध की सप्लाई, पब्लिक ट्रांसपोर्ट, दवाइयां, एंबुलेंस और हॉस्पिटल से जुड़ी सुविधाओं पर कोई असर नहीं पड़ेगा। कमर्शियल टैक्सी, ओला और उबर रोज की तरह काम करेंगी। मेट्रो सेवाएं भी सुचारू रूप से काम करेंगी लेकिन एयरलाइंस कंपनियों की ओर से यात्रियों के लिए एडवाइजरी जारी की गई है। इंडिगो, विस्तारा और स्पाइसजेट ने कहा है कि भारत बंद के कारण सड़कों पर भारी जाम लग सकता है। ऐसे में एयरपोर्ट आने के लिए यात्री अतिरिक्त समय लेकर चलें ताकि परेशानी से बच सकें।

इन संगठनों ने बुलाया है बंद

10 केंद्रीय व्यापारिक संगठन जैसे INTUC, AITUC, HMS, CITU, AIUTC, TUCC, SEWA, AICCTU, LPF, UTUC के अलावा ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स असोसिएशन (AIBOA), BEFI, INBEF, INBOC और बैंक कर्मचारी सेना महासंघ इस बंद में शामिल होंगे। बैंक कर्मचारी सार्वजनिक क्षेत्रों के बैंकों के मर्जर का विरोध कर रहे हैं। अतः चिंता करने की कोई बात नहीं है। यह बंद देश की शांति के लिए खतरा नहीं है।