शिवपुरी के थानेदार पर अपहृत लड़की से रेप का आरोप | MP NEWS
       
        Loading...    
   

शिवपुरी के थानेदार पर अपहृत लड़की से रेप का आरोप | MP NEWS

ललित मुदगल/शिवपुरी। शिवपुरी जिले के बैराड़ थाना प्रभारी शिवनाथ सिंह सिकरवार पर आरोप लगाया गया है कि उन्होंने किडनैप की गई एक लड़की को मुक्त नहीं कराया बल्कि अपहरणकर्ता के साथ कई दिनों तक रेप किया और फिर किडनैपर को फरार हो जाने दिया। आरोप 14 साल की उस लड़की ने लगाया है जिसका अपहरण किया गया था। उसका कहना है कि पुलिस ने केवल अहरणकर्ता के खिलाफ मामला दर्ज किया है। कहने के बावजूद थानेदार को नामजद नहीं किया। 

जानकारी के मुताबिक 1 अगस्त 2019 को कक्षा 9 वीं की छात्रा उम्र 14 वर्ष को उसका पड़ौसी चेतराम झा उस समय अपहरण करके ले गया, जब छात्रा घर के पास एक हैडपंप पर पानी भरने गई थी। इसके बाद परिजनों ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई तो पुलिस ने इस मामले में चेतराम के खिलाफ अपहरण का केस दर्ज कर लिया।

इसके बाद से अभी तक पुलिस ने ना तो आरोपी को गिरफ्तार किया और ना ही अपहृत लड़की को मुक्त कराया। बीते रोज बुधवार को पीडि़त पिता के पास उसकी अपहृत बेटी का फोन आया तो उसने बताया कि वह इस समय टीकमगढ़ में है और उसे चेतराम ने बंधक बनाकर रखा है।

बालिका ने बताया कि इस समय चेतराम सो रहा हैं इस कारण वह फोन से बात कर पा रही हैं, लेकिन टीकमगढ में इस समय कहा हैं वह बता नही सकती, इस पर पिता ने कहा कि कैसे भी करके बहार निकलो ओर किसी से बात करा कर इस जगह का पता करो।

बालिका ने ऐसा ही किया, जिससे पिता उसके पास पहुंच गया। चूंकि चेतराम अकेला था तो पिता अपनी बेटी के साथ चेतराम को भी पकड़कर पिछोर ले आया। यहां पर पीडि़ता का पिता अपनी बेटी व चेतराम को लेकर पुलिस थाने पहुंचा, जिस पर से पुलिस ने चेतराम को गिरफ्तार कर लिया,और उसको जेल भी भेज दिया गया हैं। 

बालिका ने बताया कि अपहरण होने के बाद से चेतराम उसे दिल्ली, दिनारा, शिवपुरी व टीकमगढ़ ले गया। इस दौरान चेतराम ने उसके साथ दुष्कर्म किया और साथ ही चेतराम के जीजा शिवनाथ सिंह सिकरवार ने भी उसके साथ कई बार बलात्कार किया। पुलिस ने पूरी घटना सुनने के बाद चेतराम के खिलाफ तो अपहरण व बलात्कार का केस दर्ज कर लिया लेकिन इस पूरे मामले से शिवनाथ सिकरवार, जो कि वर्तमान में बैराड़ थाना प्रभारी है, को नामजद नहीं किया।

पीडि़ता का मेडीकल भी कराया गया, जहां डॉक्टर ने बताया कि बालिका एक माह के गर्भ से है। बालिका ने बताया कि उसने पुलिस को चेतराम व उसके जीजा शिवनाथ सिकरवार दोनों के बारे में दुष्कर्म की शिकायत की थी, लेकिन थाने में पदस्थ महिला सब इंस्पेक्टर प्रियंका पाराशर ने उससे स्पष्ट बोल दिया कि कोर्ट में वह सिर्फ चेतराम का ही नाम ले।

शिवनाथ को बाद में इस मामले में देख लेंगे। अगर उसने ऐसा नहीं किया तो पुलिस उसकी कोई मदद नही करेगी। इस पर से गुरूवार को पिछोर कोर्ट में बालिका के बयान हुए जिसमें पुलिस के डर से बालिका ने चेतराम का ही नाम अपहरण व बलात्कार करने में लिया।

इसके बाद मीडिया को जानकारी देते हुए बालिका व उसके माता-पिता ने कहा कि पुलिस ने हमको दरोगा का नाम लेने पर डरा दिया था, अब हम चाहते हैं कि इस मामले में चेतराम के साथ उसके दरोगा जीजा शिवनाथ सिकरवार पर भी कार्रवाई हो।

बताया गया हैं कि घटनाक्रम के समय वर्तमान बैराड थाना प्रभारी शिवनाथ सिंह थनरा चौकी प्रभारी थें, जिसके चलते वह दिनारा में रहते थे। बताया गया हैं कि आरोपी चेतराम झा थनरा चौकी प्रभारी के यहां खाना बनाने का काम करता था।

इनका कहना हैं
हा मैं लडके को जानता हू वह मेरे यहां खाना बनाता था, इस घटना के दौरान उसने मुझसे मदद मांगी थी जिसे लेकर परिजन जबरन में मेरा नाम घसीट रहे हैं वह लडकी प्रेग्नेंट है। उसका डीएनए भी कराकर दूध का दूध पानी का पानी हो जाऐगा। मेरे उपर जो आरोप लगे हैं वह निराधार हैं।
शिवनाथ सिंह सिकरवार,थाना प्रभारी बैराड

आरोपी को जेल भेजा दिया है पीडिता ने पुलिस थाने में ऐसे बयान नही दिए हैं। आज पीडिता ने न्यायालय में 164 में भी बयान दिए हैं जब भी ऐसा कोई घटनाक्रम सामने नही आया था। अगर पीडिता इस मामले में आवेदन देती हैं तो जी संभव कार्रवाई करेंगें।
अजय भार्गव,पिछोर थाना प्रभारी

हां यह घटना क्रम मेरे संज्ञान में भी आया हैं,इस लडकी ने आज कोर्ट और पिछोर थाने में भी बायान दिए हैं  वहां थाना प्रभारी के बारे में कोई उल्लेख् नही किया हैं फिर भी आरोप गंभीर हैं तो इस लडकी को बुलवाकर उसके फिर से बयान लेंगेंं अगर लडकी फिर भी बोलती हैं तो सख्त कार्रवाई करेंगेंं
राजेश सिंह चंदेल,पुलिस अधीक्षक शिवुपरी