Loading...

ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमलनाथ हाईकमान के दवाब में एक साथ आए थे! खटास कम नहीं हुई | MP NEWS

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुरैना में विधायक बनवारी लाल शर्मा के यहां आयोजित विवाह समारोह में ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमलनाथ एक ही हैलीकॉप्टर से आए थे और एक साथ मंच पर भी मौजूद रहे परंतु दोनों के बीच दुरियां कम नहीं हुईं हैं। यह सबकुछ तो हाईकमान के दवाब में जनता को दिखाने के लिए किया गया था। दौरे के दौरान दोनों एक साथ उपस्थित जरूर थे परंतु मित्रवत नहीं थे। दोनों के बीच की दूरियां साफ नजर आईं। 

भोपाल समाचार की खबर वायरल हुई तो दिल्ली से दवाब आ गया

शादी समारोह में पहले इन दोनों नेताओं ने अलग-अलग पहुंचने का कार्यक्रम तय किया था। भोपाल समाचार डॉट कॉम इस खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया (पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)। नतीजा यह खबर कुछ ही घंटों में देशभर की मीडिया में सुर्ख हो गई। बात पार्टी हाईकमान तक पहुंची तो दिल्ली से दवाब आ गया। सूत्रों का कहना है कि कमलनाथ ने साथ चलने के लिए ज्योतिरादित्य सिंधिया को भोपाल से खुद फोन किया था। 

कदम-कदम पर सिंधिया ने कमलनाथ को श्रीमंत वाला रूप दिखाया

-ग्वालियर पहुंचकर सीएम कमलनाथ ने 20 मिनट तक स्टेट प्लेन में ज्योतिरादित्य सिंधिया का इंतजार करते रहे। सिंधिया निर्धारित समय पर नहीं आए। 
-हेलिपैड पर जब हेलिकॉप्टर से वाहन की ओर आए तो दोनों नेताओं के बीच में काफी दूरी थी। आमतौर पर इस कद के नेता साथ-साथ चलते हैं।
-शादी समारोह में दोनों नेता साथ-साथ पहुंचे। वहां पहले सीएम विधायक बनवारी लाल के पास पहुंचे। इसके कुछ देर बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया पहुंचे।
-विधायक बनवारीलाल शर्मा का स्वागत सत्कार स्वीकारने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया सोफे पर बैठ गए। सीएम के लिए जगह ही नहीं बची। बाद में जगह मिलने पर सीएम भी बनवारीलाल के पास बैठे।
-स्टेज पर वर-वधू को आशीर्वाद देने के बाद सीएम तुरंत मंच से उतर आए, लेकिन ज्योतिरादित्य सिंधिया करीब पांच से सात मिनट बाद मंच से उतरे। तब तक सीएम अपने वाहन में बैठ चुके थे। सिंधिया बाद में आए।