एम शिक्षा मित्र एप: शिक्षकों की समस्याओं का समाधान नहीं मिलता | MP EDUCATION NEWS

भोपाल। स्कूल शिक्षा विभाग ने भले ही शिक्षकों की सहूलियत के लिए एम शिक्षा मित्र एप 2018 में बनाया था। इसमें कई सुविधाएं भी दी गईं। एप के जरिए शिक्षकों को अपनी शिकायतें भी ऑनलाइन दर्ज करानी थीं लेकिन एप के जरिए शिक्षकों की समस्याओं का समाधान नहीं हो पा रहा है। एप पर प्रदेशभर के 1453 शिक्षकों ने शिकायत दर्ज कराई है, लेकिन अभी तक इसमें आधे से अधिक समस्याओं का समाधान नहीं हो पाया है। 

हालांकि नए साल से विभाग एप पर शिक्षकों के साथ बच्चों की उपस्थिति भी ऑनलाइन दर्ज कराने की तैयारी में है। इसके लिए विभाग सॉफ्टवेयर अपडेट करने में जुटा है। एप पर शिक्षक वेतन, स्थानांतरण, एरियर्स भुगतान या विभाग से संबंधित शिकायतें दर्ज करा सकते हैं। अभी करीब 50 फीसदी शिकायतें पेंडिंग हैं, जबकि एक सप्ताह या दस दिन के अंदर इनकी समस्याओं का समाधान होने का नियम है।

कई शिक्षकों को नहीं मिला नवंबर का वेतन
सिंगरौली जिले के करीब 90 फीसदी से अधिक शिक्षक एप डाउनलोड कर उसके माध्यम से ई-अटेंडेंस लगा रहे हैं, लेकिन वहां नेटवर्क की समस्या होने के कारण या सॉफ्टवेयर में गड़बड़ी के कारण करीब 60 से अधिक शिक्षकों का नवंबर का वेतन नहीं मिला। 20 से अधिक शिक्षकों ने वेतन का भुगतान जल्द करने की शिकायत ऑनलाइन दर्ज की है। इस जिले में विभाग ने शिक्षकों को आदेश दिए हैं कि अगर एप के माध्यम से अटेंडेंस नहीं लगी तो अनुपस्थित लगा दिया जाएगा। अब समय से वेतन न मिलने से शिक्षक परेशान हो रहे हैं।

------------
एप में जितनी शिकायतें दर्ज होती हैं, उनका गंभीरता से निराकरण किया जाता है। अगर कुछ समस्याओं का समाधान नहीं हुआ तो उन्हें दिखवाकर जल्द निराकरण कराएंगे।
जयश्री कियावत, आयुक्त लोक शिक्षण संचालनालय