Loading...

भिंड का कारोबारी ग्वालियर में हनीट्रैप का शिकार, ब्लैकमेल नहीं हुआ तो रेप की FIR | MP NEWS

ग्वालियर। 18 साल की एक लड़की ने भिंड के एक किराना कारोबारी को हनी ट्रैप का शिकार बना लिया। लड़की ने सबसे पहले फोन पर दोस्ती की, फिर मिलने बुलाया और पूरी तरह जाल में फंसाने के बाद संबंध बनाएं और वीडियो बनाकर ब्लैकमेल शुरू कर दी। कारोबारी जब ब्लैकमेल नहीं हुआ तो उसके खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज करा दिया। बता दें कि ग्वालियर में इससे पहले भी कुछ बलात्कार के मामले इसी तरह के दर्ज हुए हैं। 

किस तरह हनी ट्रैप के जाल में फसाया, यहां पढ़िए 

ब्रजमोहन राठौर निवासी मेहगांव किराना कारोबारी है। उसके पास करीब दो महीने पहले एक नंबर से कॉल आया। कॉल करने वाली युवती ने उससे बात की और दोस्ती का ऑफर दिया। दोनों में बात शुरू हो गई, फिर वाट्सएप कॉलिंग और चैटिंग भी होने लगी। युवती अभी भिंड रोड स्थित पिंटो पार्क इलाके में रहती है। उससे करीब 20 दिन पहले ब्रजमोहन मिलने आया। गोला का मंदिर पर वह युवती से मिला और एक दुकान पर जूस पीने के बाद वह चला गया। 14 दिसंबर को युवती ने फिर उसे मिलने बुलाया। युवती उसे पड़ाव के एक होटल में ले गई। यहां दोनों एक कमरे में गए। करीब एक घंटे बाद होटल से निकलकर युवती को उसने गोला का मंदिर पर छोड़ दिया। युवती ने उसे कॉल कर कहा कि उसके भाई ने कमरे के अंदर का अश्लील वीडियो बना लिया है। वह शराबी है। 10 हजार रुपए में मान जाएगा। युवती ने एक युवक को भेजा और ब्रजमोहन ने उसे 10 हजार रुपए दे दिए। इसके बाद अमन नागर नाम के युवक का कॉल आया, जो खुद को भीम आर्मी का अध्यक्ष बता रहा था। उसने और युवती ने 4.20 लाख रुपए मांगना शुरू कर दिए। 

कारोबारी ब्लैकमेल नहीं हुआ तो रेप की FIR दर्ज करा दी

17 दिसंबर को डील न होने पर लड़की ने गोला का मंदिर थाने में एफआईआर दर्ज करा दी। पुलिस ने FIR मैं लिखा है कि लड़की बाजार से लौट रही थी, तभी पिंटू पार्क के पास व्यापारी ब्रजमोहन और उसके एक साथी ने जबरन कार में डाल लिया। फिर बंदूक की नोंक पर उसके साथ गलत काम किया। मामला दर्ज करने से पहले पुलिस ने यह तस्दीक करने की कोशिश भी नहीं की कि पिंटू पार्क के पास इस तरह के अपहरण की कोई वारदात हुई या नहीं।

व्यापारी ने पेश की हनी ट्रैप के सबूत 

बलात्कार की झूठी FIR दर्ज हो जाने के बाद कारोबारी बृज मोहन राठौर ने पुलिस के सामने हनीट्रैप के सारे सबूत पेश किए। सबूतों में ऑडियो रिकॉर्डिंग की सीडी और कुछ सीसीटीवी फुटेज भी है। उस होटल के सीसीटीवी फुटेज भी है जहां लड़की कारोबारी को लेकर गई थी।

लड़की और उसके साथी के खिलाफ मामला दर्ज 

सारे सबूत सामने आने के बाद गोला का मंदिर पुलिस ने युवती और उसके साथी पर ब्लैकमेलिंग के मामले में FIR दर्ज कर ली है। युवती का साथी कमल नागर खुद को भीम आर्मी संगठन का अध्यक्ष बताकर धमका रहा था। पुलिस इन दोनों की तलाश कर रही है। अभी इसमें और लोगों के नाम भी सामने आ सकते हैं।

होटल संचालक संदेह के घेरे में

इस पूरे मामले में होटल संचालक भी संदेह के घेरे में है। उसके यहां सीसीटीवी फुटेज मिले हैं। आखिर कमरे के अंदर कैमरा कैसे पहुंच गया, इस पर पुलिस जांच कर रही है। इसमें होटल संचालक व स्टाफ रडार पर है। 

जांच की जद में तो पुलिस भी है 

कोई भी मामला दर्ज करने के पहले पुलिस पीड़ित से कुछ आसान से सवाल करती है और पता लगा लेती है शिकायतकर्ता सही बोल रहा है या गलत। इस मामले में पुलिस ने एक टाइपिस्ट की तरह FIR दर्ज कर ली। यदि मामला दर्ज करते समय पुलिस घटनास्थल का मौका मुआयना करती तो सारी सच्चाई सामने आ जाती और लड़की फरार हो जाती है। जांच की जद में तो पुलिस भी है क्योंकि पुलिस, टाइपिस्ट नहीं है।