Loading...

गांधी से घबराईं साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ब्यावरा नहीं जाएंगी, 30/11 को एलान किया था, 7/12 को इंकार कर दिया

भोपाल। भाजपा सांसद एवं विश्व हिंदू परिषद के नेता साध्वी प्रज्ञा ठाकुर अक्सर कुछ ना कुछ ऐसा करती रहती है जिसके कारण वह विवादों में बनी रहे। 30 नवंबर को उन्होंने खुद ऐलान किया था कि वह 8 दिसंबर को ब्यावरा जाएंगी। 4 दिसंबर को उन्होंने फिर दोहराया कि वह 8 दिसंबर को ब्यावरा जाएंगी। और अब 1 दिन पहले 7 दिसंबर को ब्यावरा जाने से इनकार कर दिया। 

ब्यावरा क्यों जाने वाली थीं साध्वी प्रज्ञा ठाकुर

ब्यावरा विधायक एवं कांग्रेस नेता गोवर्धन दांगी ने बयान दिया था यदि कभी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ब्यावरा आए तो उन्हें जिंदा जला देंगे। इसके बाद सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ऐलान किया था कि 8 दिसंबर रविवार को कांग्रेस विधायक के गांव मुल्तानपुरा जाएंगी। कहा था 'ठीक है तो मैं आ रही हूं ब्यावरा उनके निवास मुल्तानपुरा पर दिनांक 8 दिसंबर 2019 समय सायं 4:00 बजे जला लीजिए'

1 दिन पहले 7 दिसंबर को जाने से इंकार क्यों किया 

साध्वी एवं सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कहा कि संसद का शीतकालीन विशेष सत्र चल रहा है इसलिए वह ब्यावरा नहीं जाएंगी। बता दें कि 8 दिसंबर को रविवार है। भारतीय जनता पार्टी ने इस सत्र में प्रज्ञा सिंह ठाकुर को संसदीय दल की बैठक में प्रवेश प्रतिबंधित किया हुआ है। शनिवार को लोकसभा में नाथूराम गोडसे मामले पर दोबारा माफी मांगने के बाद वह भोपाल लौट चुकी है। साध्वी ने मीडिया प्रभारी के हवाले से जारी बयान में कहा है- ब्यावरा विधायक के बयान से भयभीत न हो जनता, सदन में विशेष सत्र चल रहा है उसमें उपस्थिति मेरी प्राथमिकता- ब्यावरा की जनता से मिलने जल्द आऊंगी।

प्रज्ञा सिंह द्वारा दौरा रद्द करने का असली कारण क्या है 

बताया जा रहा है कि ब्यावरा विधायक गोवर्धन दांगी ने साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के स्वागत की जबरदस्त तैयारी कर रही है। शनिवार को सड़कों पर विधायक गोवर्धन दांगी की रणनीति नजर आने लगी थी। विधायक गोवर्धन दांगी ने साध्वी प्रज्ञा के स्वागत में ब्यावरा की सड़कों को गांधी जी के विचार लिखे बैनर-पोस्टरों से पाट दिया है। विधायक दांगी ने शहर के मुख्य मार्ग पर 9 किमी की लंबाई में 400 से ज्यादा पोस्टर और बैनर लगवाएं हैं। यही कारण है कि सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर अपना दौरा रद्द कर दिया।