पॉलिथीन के नाम पर डिप्टी कलेक्टर ने 3 क्विंटल शक्कर जप्त की, वापस मिली तो 2 क्विंटल थी | MP NEWS
       
        Loading...    
   

पॉलिथीन के नाम पर डिप्टी कलेक्टर ने 3 क्विंटल शक्कर जप्त की, वापस मिली तो 2 क्विंटल थी | MP NEWS

अब्दुल वसीम अन्सारी/राजगढ़। राजगढ़ जिले की डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा एक बार फिर सुर्खियों में है। एक किराना कारोबारी ने आरोप लगाया है कि डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा और उनके साथ आई टीम जाए दुकान में पोलूशन मिलने पर ₹2000 का चालन बनाया और 3 क्विंटल शक्कर जो पॉलिथीन के पैकेट में रखी हुई थी जप्त कर ली। चालन की रकम जमा कराने के बाद जब जप्त की गई शक्कर वापस मांगी तो वह 2 क्विंटल निकली और शक्कर वापस करने आए अधिकारियों ने ₹3000 का चालान फिर से थमा दिया। 

ताबड़तोड़ चालानी कार्यवाही करते हुए राजगढ़ डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा राजगढ़ के एक किराना व्यापारी के यंहा पहुची, किराना व्यापारी अंकित गुप्ता के द्वारा बताया गया कि दुकान में पॉलीथीन की उपलब्धता पर 2 हजार रुपये की चालानी कार्यवाही करते हुए मौजूद पॉलिथीन की खाली थैलियों के अलावा शक्कर से भरी पॉलिथीन की थैलियों के 7 कट्टे जिनमे 1 और 2 किलो शक्कर भरी हुई थी। जप्त कर नगर पालिका अमले के साथ नगरपालिका के वाहन से ले गई। जिसको करीब 2 घंटे के बाद एक टैक्सी ऑटो से व्यापारी को वापस भी लौटा दी गई। 

3 क्विंटल शक्कर जप्त की थी वापस आई तो 2 क्विंटल बची

व्यापारी का कहना है कि नगर पालिका अमले के द्वारा जब शक्कर जप्त की गई थी उसका अनुमानित वजन 3 से 3.50 क्विंटल था, लेकिन जब शक्कर के 7 कट्टे वापस किये गए तब कुछ कट्टो में से 1 और 2 किलो की शकर की पॉलीथीन की कुछ थैलियां गायब थी। शक्कर की सातवीं बोरी में दो कुछ ज्यादा ही थैलियां गायब थी। कुल मिलाकर जबकि समय शक्कर का वजन 3 क्विंटल से ज्यादा था जब वापस मिली तो 2 क्विंटल के करीब थी।

पहले जब तक टाइम चालान बनाया, फिर सुपुर्दगी की टाइम भी चालान बनाया

गौरतलब है कि, एक बार शुरुवात में की गई 2000 की चालानी कार्यवाही के बाद भी जब प्रशासनिक अमले के द्वारा जप्ती में तादाद से कम शकर को वापस किया गया और व्यापारी द्वारा पूछने पर उसकी बात को अनसुना करते हुए डिप्टी कलेक्टर का आदेश बताकर फिर से 3000 का चालान बनाया गया। 

इनका कहना है:-
एक दिन में किसी भी व्यापारी का एक बार ही चालान बनाया जाता है, दो तीन टीमें लगी है यदि किसी व्यापारी के दो चालान बन गए है तो राशि रिटर्न करा देंगे। सामान तो राशि न देने पर उठाया जाता है ओर बाद में वापस भी कर देते है। शक्कर कम होने का सवाल ही नही उठता।
पवन अवस्थी
सीएमओ नगरपालिका राजगढ़