Loading...

रतलाम में प्रतिष्ठित अनाज व्यापारी हनीट्रैप का शिकार: एसपी ने किया खुलासा | RATLAM NEWS @ BUSINESSMEN PAVAN JAIN HONEY TRAP

रतलाम। पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि रतलाम के प्रतिष्ठित अनाज व्यापारी श्री पवन जैन उम्र 45 साल हनीट्रैप का शिकार हुए। एक लड़की ने पहले उन्हें बातों के जाल में फंसाया और फिर मिलने बुलाया। पवन जैसे ही लड़की के साथ कमरे में बंद हुए हनी ट्रैप रैकेट के लोगों ने छापामार कार्रवाई कर दी। दोनों की अश्लील फोटो एवं वीडियो बनाए गए। मौके पर जो मिला वह लूट लिया। फिर शुरू हुआ ब्लैकमेलिंग का खेल। रैकेट के बाकी लोग व्यापारी को ब्लैकमेल कर रहे थे और लड़की व्यापारी की हमदर्द बनकर उसे मोटिवेट कर रही थी कि बिना कोई कार्यवाही किए राकेट के लोग जो मांग रहे हैं वह दे दे। बता दें कि रैकेट के लोगों ने ₹2000000 की मांग की थी।

अनाज व्यापारी पवन जैन को इस तरह बनाया हनीट्रैप का शिकार

एसपी गौरव तिवारी ने शुक्रवार शाम पुलिस कंट्रोल रूम पर पत्रकार वार्ता में बताया कि 24 नवंबर को शातिर गिरोह में शामिल आरोपित युवती महिमा जॉन पिता चार्ल्स जॉन (22) निवासी एमबीनगर ने अनाज व्यापारी पवन जैन पिता पारसमल जैन (45) निवासी जवाहरनगर (जावरा) को पहले अपने जाल में फंसाया और फिर मिलने के लिए बुलाया था। युवती अनाज व्यापारी को विरियाखेड़ी ईंट के भट्टे के पास एक घर में ली गई। यहां जब दोनों अंतरंग हुए तो आरोपित शिव उर्फ भोला पिता अशोक नाकवाल (24) निवासी लक्ष्मणपुरा, दिनेश उर्फ टका पिता जुझारसिंह डिंडोर (20) निवासी विरियाखेड़ी एवं कालू उर्फ अविनाश पिता अर्जुन छपरी (20) निवासी लक्ष्मणपुरा अचानक वहां आ धमके। व्यापारी पवन जैन का कहना है कि आरोपितों ने उसके साथ कमरे में मारपीट की और चाकू की नोक पर कपड़े उतरवाकर अपने मोबाइल से अश्लील फोटो व वीडियो खींचे। आरोपितों ने व्यापारी पवन जैन के साथ मौजूद महिमा जॉन के सोने-चांदी के आभूषण भी लूट लिए। ताकि किसी को शक ना हो कि महिमा भी इस रैकेट की सदस्य है।

हनी ट्रैप की रैकेट को किस तरह गिरफ्तार किया गया

अनाज व्यापारी पवन जैन पर युवती आरोपितों को 20 लाख रुपए देने का दबाव लगातार बना रही थी। पुलिस ने पहली घटना के बाद सायबर सेल की मदद ली तो पता चला कि युवती महिमा भी गिरोह में शामिल है। शुक्रवार दोपहर करीब दो बजे पुलिस ने जाल बिछाकर तीनों शेष आरोपितों को अनाज व्यापारी के माध्यम से हनुमान ताल पर बुलवाया। इस दौरान सिविल ड्रेस में घेराबंदी कर खड़े पुलिसकर्मियों को जैसे ही भनक लगी कि आरोपित शिव, दिनेश व कालू रुपए लेने आ गए हैं, उन्हें दबोच लिया। पूछताछ के दौरान तीनों आरोपितों ने युवती के भी गिरोह में शामिल होने की बात कबूली।

दो वाहन सहित लूट की सामग्री बरामद

गिरफ्तार आरोपितों से पुलिस ने कार्रवाई के दौरान लूट के दौरान प्रयुक्त स्कूटर (एमपी-43/ईडी-4286) एवं बाइक (एमपी-43/ईबी-9086) के अलावा व्यापारी की एक सोने की अंगूठी, 25 हजार रुपए, प्लास्टिक की रिवॉल्वर, एक चाकू, एक चांदी का कड़ा, एक जोड़ सोने की बाली सहित चार मोबाइल जब्त किए। पुलिस को अंदेशा है कि गिरोह ने जिले में इस तरह अन्य वारदात को भी अंजाम दिया है, लेकिन बदनामी के डर से फरियादी आगे नहीं आए हैं। इसी के चलते गिरफ्तार चारों आरोपितों को शनिवार को न्यायालय में पेश कर पुलिस रिमांड मांगेगी।