Loading...

झोलाछाप डॉक्टरों पर कार्यवाही नहीं कर सकते क्योंकि वो भी अपने है: मंत्री | MP NEWS

गुना। कांग्रेस सरकार के मंत्री ने झोलाछाप डॉक्टरों को लेकर बड़ा बयान दिया है। मंत्री के इस बयान के बाद ये माना जा रहा है कि मंत्री ने अपनी ही सरकार की कार्यशैली पर सवाल उठाए हैं। ये पहला मौका नहीं है जब कमल नाथ सरकार के मंत्रियों ने अपनी असमर्थता जताई है। इससे पहले कई मंत्री कह चुके हैं कि आधिकारियों के द्वारा उनकी बात नहीं सुनी जा रही है।

मध्यप्रदेश के श्रम मंत्री ने अब छोलाछाप डॉक्टरों के खिलाफ कार्रलवाई नहीं होने को लेकर कहा है कि वो अपने ही लोग होते हैं इसलिए कार्रवाई नहीं हो पाती है। गुना जिला पहुंचे मंत्री महेन्द्र सिंह सिसोदिया से जब छोलाछाप डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर सवाल किया गया तो मंत्री ने कहा- बहुत से छोलाछाप डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई की गई है, लेकिन कहीं, ना कहीं राजनैतिक दवाब रहता है क्योंकि वो भी अपने बीच के होते हैं जिस कारण से छोला छाप डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई नहीं हो पाती है। लेकिन मैं फिर भी कहूंगा कि ऐसे डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए।

बता दें कि हाल ही में चिचौड़ा विधानसभा क्षेत्र में एक महिला की मौत छोलाछाप डॉक्टर से इलाज कराने के बाद हो गई थी। मध्यप्रदेश में कई ऐसे मामले आ चुके हैं जहां छोलाछाप डॉक्टरों के इलाज से लोगों की मौत हुई है। लेकिन उसके बाद भी मंत्री कार्रवाई की जगह अपनी असमर्थता जता रहे हैं। गुना में कलेक्ट्रेट में समीक्षा बैठक लेने के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए मंत्री महेन्द्र सिसोदिया ने भोपाल की सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर पर खुला हमला बोला। इससे पहले मंत्री गोविंद सिंह राजपूत और प्रदेश की महिला विकास मंत्री इमरती देवी ने कहा था कि हमारी ही सरकार में अधिकारी हमारी बातों को नहीं सुन रहे हैं।