Loading...

छात्रों का अपहरण कर बेल्ट से चमड़ी उधड़ने तक पीटा, पानी में डुबोया | JABALPUR NEWS

जबलपुर। अधारताल थाना क्षेत्र के फरार इनामी बदमाश और उसके गुर्गों ने रंजिश भुनाने के लिए परीक्षा देने जा रहे दो छात्रों का महाराजपुर बायपास से अपहरण कर लिया। सुनसान जगह पर ले जाकर उनके कपड़े उतरवाए। हाथ-पैर बांध कर लात-घूसों से पीटा। अपशब्दों की बौछार के बीच बेल्ट से पिटाई की, जिससे उनकी पीठ की चमड़ी उधड़ गई। 

वारदात सोमवार की है। छात्र माफी मांगते रहे, छोडऩे की गुहार लगाते रहे लेकिन बदमाशों ने उनकी नहीं सूनी। घटनास्थल पर बने पानी के टैंक में छात्रों को डुबोकर पीटते रहे। बदमाशों ने मारपीट का वीडियो भी वायरल किया। रोंगटे खड़े कर देने वाला वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद पुलिस हरकत में आई। दो बदमाशों को गिरफ्तार किया, जबकि तीन फरार हैं। अधारताल पुलिस के अनुसार सुहागी के इंद्रा नगर निवासी आकाश पटेल (Akash Patel) ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि वह सोमवार को दोस्त तिलक रैकवार के साथ बाइक एमपी-20 एनएफ, 2877 से परीक्षा देने सकरा जा रहा था। 

बायपास पर पाठक ढाबा के पास महाराजपुर निवासी बड़े मियां उर्फ राजेंद्र मेहरा (Bade Mian aka Rajendra Mehra) कंचनपुर निवासी रॉबिन विश्वकर्मा( Robin Vishwakarma), बाबू, हाउसिंग बोर्ड वेलकम कॉलोनी निवासी आयुष पांडे ( Ayush Pandey) मिले। रास्ता रोक कर विवाद करने लगे। आरोपियों ने दोनों छात्रों की बेल्ट से पिटाई की। छात्रों के चीख सुनकर वहां से गुजर रहे कुछ राहगीर मदद के लिए आए। लोगों को आता देखकर बदमाश छात्रों को उठाकर ले गए। मारपीट के बाद छात्रों को मढ़ई के पास छोड़ दिया। रिपोर्ट करने पर जान से मारने की धमकी दी।

पुलिस के अनुसार वारदात में आरोपी बदमाशों का सुहागी क्षेत्र के एक परिवार से विवाद है। आरोपी पक्ष के एक व्यक्ति पर पीडि़त पक्ष के परिचितों ने कुछ दिन पहले 302 का प्रकरण दर्ज हुआ है। इस मामले में छात्रों की भूमिका होने के संदेह पर बदमाशों ने बदला लेने और उन्हें डराने के लिए मारपीट की। छात्रों से मारपीट के मामले में आरोपी बड़े मियां उर्फ राजेंद्र मेहरा एक आपराधिक प्रकरण में लम्बे समय से फरार है। जिला पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी पर इनाम घोषित किया है। इससे पुलिस की भूमिका संदिग्ध हो गई है।

पीडि़त पक्ष का आरोप है कि पुलिस ने आरोपियों पर कार्रवाई में ढिलाई बरती। बेखौफ घूम रहे बदमाशों से पूछताछ की फिर छोड़ दिया गया। बदमाशों ने मारपीट का वीडियो वायरल किया। वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस हरकत में आई। घटना के आरोपितों अभिषेक काछी और आयुष पांडे को गिरफ्तार किया है। तीन अन्य आरोपी फरार हैं। वायरल वीडियो देखने के बाद पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठने लगे तब आकाश पटेल की रिपोर्ट पर आरोपियों के विरुद्ध 341, 327, 294, 323, 506, 34 के दर्ज प्रकरण में धारा 365 बढ़ाई।

छात्रों के साथ जघन्य तरीके से की गई मारपीट के मामले को लेकर दो राजनीतिक दल आमने-सामने हैं। सूत्रों के अनुसार एक पक्ष के लोग एक विधायक के करीबी बताए जा रहे हैं। दूसरे पक्ष को प्रदेश सरकार के एक मंत्री से जोड़ा जा रहा है। राजनीतिक संरक्षण और हस्तक्षेप से मामला संवदेनशील हो गया है।