Loading...

नगर निगम ने अवैध पोस्टर हटाए तो मंत्री ने लठैत भेज दिए | INDORE NEWS

इंदौर। इंदौर शहर भले ही स्वच्छता में नंबर वन हो गया हो लेकिन शहर की राजनीति में प्रदूषण का स्तर तेजी से बढ़ता जा रहा है। नेता भाजपा की हो या कांग्रेस के हिंसक गतिविधियां और बेहूदा बयान बाजी करने से कतई नहीं चूक रहे। ज्योतिरादित्य सिंधिया के कोटे से मंत्री बने तुलसी सिलावट ने अपने जन्मदिन के अवसर पर सारे शहर में अवैध पोस्टर लगवा दिए। नगर निगम की टीम ने जब इन्हें हटाने की कार्यवाही की तो उसे रोकने के लिए मंत्री ने लठैत भेज दिए। मंत्री के लठैतों की हिम्मत देखिए, उन्होंने कवरेज कर रही मीडिया के कैमरे भी बंद कराए। 

स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट के जन्मदिन के मौके पर मंगलवार को उनके समर्थकों द्वारा बधाई संदेश देते हुए सड़क किनारे पोस्टर लगाए गए थे। पोस्टर लगे होने की सूचना के बाद उपायुक्त महेंद्र सिंह चौहान निगम टीम के साथ इन्हें हटाने पहुंचे। छावनी क्षेत्र में पोस्टर हटाने के दौरान कुछ कांग्रेसी मौके पर पहुंचे और निगम से कार्रवाई रोकने को कहने लगे। चौहान ने उन्हें बताया कि कमिश्नर साहब के निर्देश पर इन्हें हटाया जा रहा है। यह सुन वे बिफर गए और जमकर बहस हुई। मंत्री के समर्थकों ने नगर निगम की टीम को कार्रवाई करने से रोक दिया। नगर निगम की टीम की सुरक्षा के पूजा बस लिए पुलिस फोर्स भेजी गई और पुलिस की सुरक्षा में नगर निगम ने मंत्री के अवैध पोस्टर से हटाए।

सीएस ने सभी संभागायुक्त और कलेक्टर को निर्देश दिए थे 

शहरों में अवैध होर्डिंग, कटआउट, गेंट्री, बैनर-पोस्टर को हटाने के लिए पीएस ने हाल ही में सभी संभागायुक्त और कलेक्टर को निर्देश दिए थे। इसमें कहा गया थ कि होर्डिंग्स चाहे मुख्यमंत्री, मंत्री, अन्य नेता आदि किसी के भी हों, हटा दें। नेताओं के जन्मदिन, आगमन पर स्वागत व अभिनंदन के विज्ञापनों पर रोक लगाने के लिए कैबिनेट ने आउटडोर विज्ञापन नियम-2017 और संपत्ति विरूपण अधिनियम-1994 के प्रावधानों काे और सख्त करते हुए उसका पालन करने की मंजूरी दी है। अब कलेक्टर से आउटडोर विज्ञापन के लिए अनुमति लेना होगी। उन्हें जुर्माना करने के अधिकार भी दिए हैं। यदि बिना अनुमति के कोई विज्ञापन लगता है तो संबंधित नगरीय निकाय के अधिकारी-कर्मचारी उसे हटाएंगे। इसमें लापरवाही बरतने पर उनके खिलाफ कार्रवाई होगी।