Loading...

फर्जी लेफ्टिनेंट ने सेना मेें भर्ती के लिए पूरा परीक्षा केंद्र बना रखा था, मास्टरमाइंड अब भी अज्ञात | INDORE NEWS

इंदौर। सड़क हादसे में मृत फर्जी लेफ्टिनेंट जयप्रकाश झा (Fake lieutenant Jayaprakash Jha) के लैपटॉप और मोबाइल की जांच में चौंकाने वाली जानकारी मिली है। उसने एक वेबसाइट भी बना ली थी। वह अकादमी की तरह भारतीय सेना, रक्षा मंत्रालय से संबंधित कर्मचारियों की भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन लेकर परीक्षा और प्रशिक्षण भी आयोजित करवाता था। इस जानकारी के बाद सैन्य अधिकारियों ने इससे जुड़े प्रत्येक व्यक्ति की निगरानी शुरु कर दी है। इस मामले में संदेह के पर्याप्त कारण उपलब्ध है कि सेना से संबंधित कॉलेज का सफाई कर्मचारी इतना शातिर नहीं हो सकता। इसके पीछे कोई मारस्टरमाइंड है जिसका पता लगाया जाना जरूरी है। ऐसा नहीं हुआ तो फिर कोई दूसरा जयप्रकाश इसी तरह घूमता नजर आएगा। 

तेजाजीनगर थाना पुलिस के अनुसार जयप्रकाश (24) नूनू झा निवासी समर्थ पार्क कॉलोनी की कार से मिले लैपटॉप में 4 जीबी डेटा मिला है। बुधवार रात तकनीकी जांच के लिए लैपटॉप क्राइम ब्रांच के सुपुर्द कर दिया। उसमें अधिकारियों को एक फ्लेक्स का फोटो मिला। जिस पर ज्वाइंट रिक्रूटमेंट ग्रुप लिखा हुआ था। उसने एक वेबसाइट भी बना रखी थी। जब सैन्य अधिकारियों ने वेबसाइट खोली तो उसमें सेना का लोगो, फोटो और रक्षा मंत्रालय से जुड़ी जानकारी मिली। जांच में शामिल एक कर्नल के अनुसार प्रारंभिक पड़ताल में यह पता स्पष्ट हो चुका है कि जयप्रकाश सेना में भर्ती के नाम पर बेरोजगारों को ठग रहा था। 

कुछ लोग वेबसाइट के जरिए आवेदन करते थे। उसके लैपटॉप में सेना भर्ती संबंधित दस्तावेज और सवाल-जबाव भी मिले हैं। ऑनलाइन आवेदन करने वालों की वह परीक्षा भी आयोजित करवाता था। बाद में उन्हें वह प्रशिक्षण भी देता था॥ हालांकि अभी तक की जांच में उसके द्वारा एलडीसी, माली, कारपेंटर, सफाईकर्मी, पेंटर और इलेक्ट्रिशियन आदि पदों के लिए आवेदन लेने की जानकारी मिली है। पुलिस को शक है कि फर्जीवाड़े में अन्य लोग भी शामिल हैं। पुलिस के अनुसार जयप्रकाश के बैंक खातों की जानकारी मांगी गई है। कॉल डिटेल निकाल कर यह पता लगाया जा रहा है कि वह किसका कॉल था जिससे बात होने पर जयप्रकाश 200 किमी से लौट आया।

ज्वाइंट रिक्रूटमेंट ग्रुप की जानकारी मिलने पर सेना भी अलर्ट जारी कर चुकी है। सेना ने कहा कि यह भ्रामक विज्ञापन और संस्था है। लोग बहकावे में न आएं और इस पर कोई आवेदन नहीं करें। साथ में सेना ने एक लिंक दी और लिखा कि भारतीय सेना और रक्षा मंत्रालय से संबंधित आधिकारिक भर्ती के लिए उक्त लिंक पर सब्सक्राइब किया जा सकता है।