Loading...

रायसेन में BMO को लूटा, हाथ, पैर और पसलियां तोड़ गए

भोपाल। पड़ोसी जिले रायसेन में ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर डॉ रजनीश सिंघई एक्सीडेंट, लूट और जानलेवा हमले का शिकार हो गए। अपराधियों ने पहले उनकी कार में टक्कर मारी। फिर उनके साथ बेरहमी से मारपीट की और उसके बाद डेढ़ लाख रुपए सहित जरूरी कागजात लूट कर फरार हो गए। अपराधियों ने डॉ रजनीश को इस कदर मारा है कि उनके हाथ, पैर और पसलियां फ्रैक्चर हो गए।

डॉ रजनीश सिंघई रायसेन के उदयपुरा सरकारी अस्पताल में बीएमओ यानी ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर हैं। वो ड्यूटी कर घर लौट रहे थे। वो कार में सवार थे। रास्ते में NH12 खुरसुरु मोड़ पर एक ट्रैक्टर ने उनकी कार को टक्कर मार दी। कार क्षतिग्रस्त हो गयी। डॉ सिंघई कार से उतरे और उनका ट्रैक्टर चालक से विवाद हो गया। उन्होंने ट्रैक्टर चालक से कार को हुए नुक़सान का मुआवज़ा मांगा। 

हर्जाने के नाम पर मारपीट

बात बढ़ने पर ट्रैक्टर चालक ने डॉ सिंघई को अपने साथ गांव सुरेला चलने के लिए कहा। उसने कहा मेरे घर चलो, मैं वहीं हर्जाना दे दूंगा। डॉ सिंघई अपनी कार से ट्रैक्टर ड्राइवर के पीछे चल पड़े लेकिन ड्राइवर का इरादा ठीक नहीं था। उसने गांव से अपने परिचितों को बुला लिया। गांव पहुंचने से पहले ही रास्ते में उसने कार रुकवायी और अपने साथियों के साथ मिलकर डॉ सिंघई पर टूट पड़ा। सबने मिलकर BMO को बुरी तरह पीटा। 

हाथ-पैर-पसली टूटी

इस मारपीट में डॉ रजनीश सिंघई का एक हाथ, एक पैर और पसली टूट गयी। बदमाश उनसे करीब डेढ़ लाख रुपए और सरकारी दस्तावेज भी छीन ले गए। डॉ सिंघई फिलहाल अस्पताल में भर्ती हैं। इस घटना के बाद अस्पताल के कर्मचारियों ने उदयपुरा तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा और आरोपियों के खिलाफ जल्द कार्रवाई की मांग की।