Loading...

मुख्यमंत्री कमलनाथ के लिए गांधी परिवार से बधाई नहीं आई: BIG NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के जन्मदिन (18 नवंबर) के अवसर पर अवैध होर्डिंग, बैनर और पोस्टर पर प्रतिबंध था बावजूद इसके वह दिन भर सुर्खियों में बने रहे। पार्षद से लेकर प्रधानमंत्री तक लगभग सभी ने कमलनाथ को जन्मदिन की बधाई दी। शायद यह पहली दफा था जब सोशल मीडिया पर कमलनाथ के बारे में इतनी ज्यादा बातचीत हुई। कुल मिलाकर कमलनाथ का जन्मदिन एक बड़ी खबर बन गया। यह जन्मदिन ब्रेकिंग न्यूज़ तब बना सोमवार का दिन बीता क्योंकि गांधी परिवार की ओर से कमलनाथ को किसी ने बधाई नहीं दी थी। 

कमलनाथ जो खुद को इंदिरा गांधी का तीसरा पुत्र कहते हैं, पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को ' इंदिरा मां' पुकारते हैं, उन्हें इंदिरा गांधी के परिवार से बधाई नहीं आई। राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के ट्विटर हैंडल्स से मुख्यमंत्री कमलनाथ के लिए जन्मदिन का कोई संदेश पोस्ट नहीं किया गया। ऐसा नहीं है कि राहुल और प्रियंका ने सोमवार को कोई ट्वीट नहीं किया हो। राहुल गांधी की बात करें तो उनके ट्विटर हैंडल पर सोमवार रात 8 बजकर 52 मिनट पर हफिंगटनपोस्ट की एक खबर शेयर की गई है। वहीं प्रियंका गांधी ने सोमवार को 4 ट्वीट किए लेकिन दोनों नेताओं के ट्विटर पर मुख्यमंत्री कमलनाथ के जन्मदिन की बधाई का कोई सन्देश नहीं था।

वहीं देर शाम जनसम्पर्क कार्यालय से जारी प्रेस रिलीज़ में भी गांधी परिवार के किसी सदस्य द्वारा जन्मदिन की बधाई मिलने का ज़िक्र नहीं था। जनसंपर्क कार्यालय की प्रेस रिलीज़ के मुताबिक मुख्यमंत्री कमलनाथ को जन्मदिन की बधाई देने वालों में सबसे ऊपर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन का नाम था। 

याद दिलाने के लोकसभा चुनाव के बाद राहुल गांधी, कमलनाथ से नाराज चल रहे हैं। राहुल गांधी का आरोप है कि कमलनाथ ने पुत्र मोह के कारण मध्यप्रदेश में कांग्रेस के प्रचार पर ध्यान ही नहीं दिया। प्रियंका गांधी ने तो बड़ी मीटिंग में कमलनाथ सहित कुछ वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं को पार्टी का हत्यारा तक कह दिया था। बाद में राहुल गांधी ने कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया। तब से लेकर अब तक कमलनाथ की सोनिया गांधी से तो मुलाकात हुई लेकिन राहुल गांधी से कोई मुलाकात नहीं हुई है।