Loading...

महाराष्ट्र के 44 विधायक मध्यप्रदेश आ रहे हैं, कमलनाथ की शरण में कांग्रेस

भोपाल। महाराष्ट्र में सरकार बनने से पहले ही तख्तापलट जैसे हालात बने और भारतीय जनता पार्टी की तरफ से देवेंद्र फडणवीस ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली। आधी रात के बाद शुरू हुए इस पोलिटिकल ड्रामे में सुबह 7:00 बजे शपथ ग्रहण समारोह हो गया लेकिन इसके बाद राजनीति का हाईप्रोफाइल खेल शुरू हुआ। कांग्रेस अपने सभी 44 विधायकों को शिफ्ट कर रही है। खबर है कि उन्हें मध्यप्रदेश भेजा जा रहा है। यहां सभी विधायक कमलनाथ की निगरानी में रहेंगे।

कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि हाईकमान की ओर से कमलनाथ को संदेश आया है। माना जा रहा है कि देर शाम तक महाराष्ट्र कांग्रेस के सभी 44 विधायक मध्यप्रदेश पहुंच जाएंगे। उन्हें भोपाल की किसी से सेफ हाउस में रखा जाएगा। या फिर उन्हें छिंदवाड़ा में भी छुपाया जा सकता है। कांग्रेस को डर है कि भारतीय जनता पार्टी अपना बहुमत साबित करने के लिए कांग्रेस के विधायकों में तोड़फोड़ कर सकती है। विधायकों की हॉर्स राइडिंग से घबराकर कांग्रेस ने अपनी सुरक्षा का प्लान तैयार किया है।

शनिवार को मुबंई में मीडिया को संबोधित करते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने कहा था कि, कांग्रेस के विधायक एक जुट हैं और कांग्रेस में कोई फूट नहीं है। बता दें कि इससे पहले कांग्रेस ने अपने सभी विधायकों को राजस्थान में शिफ्ट किया था। अब महाराष्ट्र विधानसभा में फ्लोर टेस्ट होने तक कांग्रेस के विधायक मध्यप्रदेश में रहेंगे। राजस्थान और मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार है। लिहाजा कांग्रेस के लिए ये सुरक्षित स्थान हो सकता है। ऐसे में पार्टी हाई कमान ने विधायकों को मध्यप्रदेश में शिफ्ट करने का निर्णय लिया है। कांग्रेस विधायक करीब 5 बजे फ्लाइट से मुंबई से मध्यप्रदेश के लिए रवाना होंगे।