Loading...

PINCON GROUP: गोपाल भार्गव और गोविंद सिंह के परिजनों को चूना लगाने वाली कंपनी के खिलाफ FIR

सागर। सागर संभाग में आर्थिक अन्वेषण ब्यूरो की पहली कार्रवाई में पिनकॉन कंपनी के डायरेक्टर, चेयरमैन और एजेंटों सहित 38 आरोपितों के खिलाफ 12 करोड़ रूपए की ठगी का केस दर्ज किया गया। कंपनी की विभिन्न योजनाओं का लाभ दिलाने का झांसा देकर जिले में 5 हजार से अधिक किसान, नौजवान व नौकरी पेशा लोगों व महिलाओं से 12 करोड़ रुपए कर ठगी कर कंपनी बंद का भाग गई। ईओडब्ल्यू मुख्यालय भोपाल में दर्ज एक मामले में जांच के बाद यह कार्रवाई की गई है।

कंपनी ने गोपालगंज सहित जिले के तहसील मुख्यालयों पर कार्यालय खोले थे। वर्ष 2014 से लेकर 2018 तक कंपनी ने पिनकॉन सिक्यूरिटीज, एलआरएन फायनेंस, ग्रीन फूड प्रोडक्ट, एलआरएन यूनिवर्स प्रोडक्ट, यूनिवर्सल मल्टीस्टेट क्रेडिट को-आपरेटिव सोसायटी एवं उत्कल मल्टी स्टेट क्रेडिट कंपनी बनाकर लोगों को निवेश करने पर बैंकों से ज्यादा ब्याज देने, किसानों के अच्छा, खाद-बीज, आधुनिक कृषि उपकरण देने का झांसा देकर लाखों रूपए का निवेश कराया था। निवेश करने वालों में पूर्व मंत्री गोपाल भार्गव के परिजन व परिवहन मंत्री गोविंद सिंह के बड़े भाई गुलाब सिंह राजपूत से लाखों रुपए की ठगी की गई है।

ईओडब्ल्यू सागर ब्रांच के एसपी नीरज सोनी ने बताया कि जांच में पाया गया है कि कंपनी के डायरेक्टर, चेयरमैन, कर्मचारियों व एजेंटों ने भारतीय रिजर्व बैंक, भारतीय प्रतिभूति एवं विनियम बोर्ड के फर्जी दस्तावेज बनाकर निवेशकों से 12 करोड़ रुपए की ठगी की थी। वर्ष 2018 में कंपनी के कर्ताधर्ता रातों रात जिले के कार्यालय बंद कर भाग। निवेशकों ने इस आशय की शिकायत ईओडल्यू के भोपाल मुख्यालय की थी। जांच में शिकायत सही पाए जाने पर कंपनी के 38 अधिकारी, कर्मचारी व एजेंटों के खिलाफ धारा 406, 409, 420, 467, 468, 471,120बी,109 का केस दर्ज किया गया है।