Loading...

सोनकच्छ के तालाब में डूबकर पांच बच्चों की मौत, शव देख बिलख पड़े परिजन | MP NEWS

देवास. देवास के पास सोनकच्छ के कनका गांव में आज तालाब में डूबकर पांच बच्चों की मौत हो गई। ये बच्चे नहाने के लिए तालाब में कूदे थे। ग्रामीणों ने गोताखोरों की मदद से सभी बच्चों को बाहर निकाल कर अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने सभी को मृत घोषित कर दिया। ग्रामीणों के अनुसार दो बच्चों का पता नहीं चल रहा है, हो सकता है वे भी डूब गए हों, जिन्हें तलाशा जा रहा है।

जानकारी के मुताबिक, खजूरिया कनका गांव में करीब डेढ़ बजे गांव के बच्चे अवैध खनन से बनी तालाब में नहाने पहुंचे थे। यहां सभी ने एक साथ छलांग लगाई। पांच बच्चों को छोड़कर अन्य पानी से ऊपर आ गए। इसके बाद साथ नहा रहे अन्य बच्चों ने दौड़कर ग्रामीणों को बच्चों के डूबने की सूचना दी। मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने तत्काल इसकी जानकारी पुलिस-प्रशासन को दी। बच्चों की तलाश में ग्रामीणों ने तालाब में छलांग लगा दी। सूचना के बाद कलेक्टर डॉ. श्रीकांत पांडेय और एसपी चंद्रशेखर सोलंकी मौके पर पहुंचे। तालाब से पानी निकालने के लिए जेसीबी मंगाकर मिट्टी हटवाकर पानी निकलवाया गया।

कुछ देर बाद एक-एक कर बच्चों को गहराई से बाहर निकाला गया और मौके पर ही उनके पेट से पानी निकालने की कोशिश की गई। इसके बाद बच्चों को अस्पताल पहुंचाया गया। ग्रामीणों का कहना है कि साथ में नहा रहे दो बच्चों का पता नहीं चल रहा है, संभवत: वे भी पानी में डूब गए हैं। 

इसके बाद काफी देर तक गोताखोरों ने तालाब में तलाश की, लेकिन बच्चे नहीं मिले। गुस्साए लोगों का कहना था कि अवैध खनन से बने तालाब के कारण बच्चों की मौत हुई है। यदि प्रशासन इन पर सख्त कदम उठाता तो ऐसी घटना नहीं होती। जानकारी के बाद देवास के सांसद महेंद्र सोलंकी और कैबिनेट मंत्री और विधायक सज्जन सिंह वर्मा भी इंदौर से सोनकच्छ के लिए रवाना हो गए हैं।