Loading...

वृद्धा हत्याकांड का खुलासा : मंगेतर के रूपये लौटने पड़ौसी ने की हत्या | INDORE NEWS

इंदौर। अन्नपूर्णा इलाके के जय जगह कॉलोनी में प्रेमा (70) पति ईश्वर झमटानी (Prema Jhamtani) की हत्या का खुलासा हो गया। घर के सामने रहने वाले दीपेश गंगवानी (Deepesh Gangwani) (22) ने उनकी हत्या (Murder) की थी। जानकारी के मुताबिक दीपेश की एक युवती से शादी तय हुई थी। दुकान चलाने के लिए उसने युवती से 60 हजार रुपए उधार लिए थे। दुकान बंद होने के चलते वह रुपए नहीं लौटा पाया। वही युवती ने उधार रुपए वापस लेने के लिए दबाव बनाना शुरु किया। 

दुकान बंद होने से आर्थिक स्थिति खराब चल रही थी। इसी के चलते वह परेशान रहने लगा। तभी उसे लगा कि वृद्धा अकेली रहती है। उनके पास काफी पैसा भी है। उनकी हत्या कर पैसा लूट लेंगा तो उसकी सारी परेशानी दूर हो जाएंगी। मंगेतर को भी वह उधार लिए रुपए वापस कर देंगा। इसी के बाद शनिवार अलसुबह 5 बजे वह प्रेमा के घर में दाखिल हुआ। दरवाजा खुला होने से सीधे कमरे में चला गया। प्रेमा को सामने देख कपड़े से गला कसकर हत्या कर दी। घर से दो सोने के कड़े, सोने के टाप्स, सोने की अंगूठी, करीब पचास हजार रुपए उसने चुरा लिए।

रात 8.11 बजे जब बहू ने प्रेमा को फोन किया तो उसी ने डॉक्टर बनकर बात की। इससे लग रहा है कि अलसुबह से रात तक वह घर में ही था। जब लगा कि परिवार के लोग आने वाले है तो घर के पीछे जाकर छिप गया। दीपेश की लोकेशन शहर के बाहर की मिली है। उसकी तलाश में तीन टीमें बनाई गई है जो उसे ढूंढ रही है। दीपेश की गिरफ्तारी पर दस हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया है। दीपेश के मिलने पर हत्या व लूट से जुड़ी कई प्रमुख जानकारियां सामने आएंगी। मामले में अन्नपूर्णा पुलिस हत्या का केस दर्ज चुकी है। रविवार दोपहर जिला अस्पताल में पोस्टमॉर्टम के बाद परिवार ने उनका अंतिम संस्कार कर दिया। पहले फांसी फिर शव जलाने की कोशिश की। 

दीपेश की शादी अन्नपूर्णा इलाके में रहने वाली युवती से तय हुई है। 12 नबंवर को दोनो की शादी होने वाली थी। घटना स्थल से भागकर वह मंगेतर के घर ही पहुंचा। उसने मंगेतर को हत्या व घर से नकदी और जेवर लूटने की बात बताई। उसने कहां कि में भाग रहा हूं तुम भी मेरे साथ भाग चलो। फिर दोनो साथ रहेंगे। ये सब सुनकर युवती घबरा गई। उसने कहां कि तुम्हारें साथ पुलिस मुझे भी पकड़ लेंगी। उसने साथ जाने से इनकार किया तो दीपेश वहां से चला गया। युवती के घर पुलिस पहुंची तो उसने पूरी घटना बता दी।

वृद्धा के घर के पीछे सकरी गली है। यहां खाली पड़े एक प्लाट से दीपेश उपर चढ़ा। पड़ोसी श्याम की बालकनी में कूदा। फिर यहां से वृद्धा की बालकनी में गया। सुबह प्रेमा जल्दी उठ जाती है तो घर का दरवाजा खुला था। घर में जाते ही उसने वृद्धा की कपड़े से गला घोंटकर हत्या कर दी। बहू ने जब फोन लगाया तो उसी ने डॉक्टर बनकर बात की। बाद में घर के पिछले हिस्से में ही वह छिप गया। राजेंद्र नगर टीआई सुनील शर्मा को घर के पिछले हिस्से में फुट प्रिंट लेने के लिए एसपी ने भेजा। उन्हें देखते ही दीपेश भागने लगा। उसे भागते देख जब मां चिल्लाई की दीपेश कहां भाग रहा है तब लोगो का ध्यान उसकी तरफ गया। लोग भी पुलिस के साथ दौड़े लेकिन वह हाथ नहीं लगा।