Loading...

बहन को स्कूल बस स्टॉप तक छोड़ने आये मासूम को बस ने कुचला | INDORE NEWS

इंदौर। पिता के साथ बड़ी बहन को स्कूल बस तक छोड़ने आए दो साल के बच्चे का सिर उसी स्कूल बस के पहिए के नीचे आ गया। इससे घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई। दिलदहला देने वाली घटना देख वहां मौजूद लोग आपा खो बैठे। गुस्साई भीड़ को देख चालक बच्चों से भरी बस लेकर वहां से भागा और पुलिस चौकी में ले जाकर खड़ी कर दी।

घटना शनिवार सुबह साढ़े नौ बजे की है। मांगलिया के द्वारकाधाम कॉलोनी में रहने वाले गोर्वधन बोड़ाना (Gowardhan budana) की पांच वर्षीय बेटी ऋषिका एम एस स्कूल में पढ़ती है। शनिवार को स्कूल में गरबे का आयोजन था। इसके लिए ऋषिका तैयार होकर स्कूल जा रही थी। पिता गोवर्धन उसे स्कूल बस तक छोड़ने गए। साथ में दो साल का प्रियांश (PRIYANSH) भी आ गया। खेलते हुए प्रियांश बस के चालक तरफ वाले हिस्से में पहुंच गया। इससे वह न चालक को और न ही आसपास मौजूद लोगों को दिखाई दिया। बच्चों के बैठते ही चालक ने बस आगे बढ़ा दी। 

उधर, बस के पास खेल रहे प्रियांश का सिर पहिए के नीचे आ गया। घटना देख मौके पर चीख-पुकार मच गई। परिजन तत्काल प्रियांश को बॉम्बे हॉस्पिटल (Bombay Hospital) लेकर गए लेकिन सिर में गंभीर चोट लगने से उसे बचाया नहीं जा सका। लोगों का गुस्सा देखकर चालक तुरंत बस लेकर मांगलिया पुलिस चौकी पहुंच गया। चौकी प्रभारी रवींद्रसिंह भदौरिया के अनुसार, बस चालक शेखर (30) पिता हरिसिंह निवासी मांगलिया (Shekhar father Harisingh) के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। बस एमेस स्कूल की है। घटना के दौरान उसमें 25 से 30 बच्चे थे।