Loading...

ग्राम रोजगार सहायकों की कलम बंद हड़ताल शुरू | GRAM ROJGAR SAHAYAK SANGH NEWS

केसली। ग्राम रोजगार सहायक संघ नियमितीकरण की मांगों को लेकर दिनांक 16 अक्टूबर से 23 अक्टूबर तक कलम बंद हड़ताल पर चले गए हैं। स्वभाविक है इससे ग्राम पंचायतों का काम प्रभावित होगा। रोजगार सहायक संघ संभागीय अध्यक्ष नितिन शुक्ला ने बताया कि कॉन्ग्रेस सरकार ने रोजगार सहायकों को नियमित करने का वादा किया था लेकिन आज दिनांक तक नियमितीकरण का आदेश जारी नहीं हुआ। 

पहले ही चेतावनी दे दी थी

16 सितंबर 2019 को मुख्यमंत्री के नाम पंचायत मंत्री को ज्ञापन सौंपा गया था एवं दिनांक 11 सितंबर 2019 को अपर मुख्य सचिव पंचायत ग्रामीण विकास विभाग एवं मनरेगा कमिश्नर महोदया को पूर्व में सूचना दी गई थी कि अगर 25 सितंबर तक जीआरएस का नियमितीकरण नहीं किया गया तो हम 25 सितंबर के बाद या तो सामूहिक इस्तीफा देंगे या हड़ताल करेंगे। 

आश्वासन पर 2 अक्टूबर का आंदोलन स्थगित किया था

रोजगार सहायक संघ ब्लॉक अध्यक्ष भरत सिंह लोधी ने बताया कि सरकार के द्वारा 15 अक्टूबर 2019 तक रोजगार सहायकों की मांगों का निराकरण करने के लिए आश्वस्त किया गया था जिसके चलते 2 अक्टूबर 2019 को भोपाल का आंदोलन स्थगित किया गया था परंतु आज 15 तारीख होने के बावजूद भी ग्राम रोजगार सहायक के हितों में कोई भी आदेश जारी नहीं किया गया जिससे समस्त रोजगार सहायकों में आक्रोश है।

भोपाल में दांडी यात्रा

भविष्य की चिंता को देखते हुए अपने हक की लड़ाई रोजगार सहायक संगठन के आह्वान पर 16 अक्टूबर से 23 अक्टूबर 2019 तक समस्त ग्राम रोजगार सहायक हड़ताल पर रहेंगे एवं 23 तारीख को भोपाल में जेल भरो शक्ति प्रदर्शन दांडी यात्रा तिरंगा यात्रा निकाली जाएगी। रोजगार सहायकों ने प्रशासन से मांग की है कि समस्त रोजगार सहायकों को उनका भविष्य देखते हुए अपना सहयोग प्रदान करें।

भोपाल जिले की 179 ग्राम पंचायतों में हड़ताल


भोपाल जिले की 179 ग्राम पंचायतो में कार्यरत (ग्राम रोजगार सहायक) सहायक सचिव सरकार की वादा खिलाफी से नाराज होकर प्रदेश संगठन के साथ हडताल पर चले गए। गौरतलब है कि विगत लम्बे समय से सहायक सचिव अपनी अनार्थी मांगो को लेकर सरकार के समक्ष अपना पक्ष रख रहे है, किन्तु शासन ने सिर्फ हर बार आश्वासन देकर सहायक सचिवो की एक मांग भी पूरी नही की जिससे आहत होकर सहायक सचिव दिनांक 16/10/2019 से हडताल पर चले गए।

इस आशय की जानकारी देते हुए मध्यप्रदेश पंचायत सहायक सचिव संगठन के जिलाध्यक्ष एवं प्रदेश प्रवक्ता शैलेन्द्र चौकसे ने बताया कि ग्राम पंचायत मे ग्राम रोजगार सहायक (सहायक सचिव) शासन की महत्वाकांक्षी योजना मनरेगा सहित ग्राम पंचायत स्तर की समस्त योजनाओं को धरातल पर क्रियान्वित होने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे है। सरकार ग्राम पंचायत के ग्राम रोजगार सहायको को कोल्हु का बैल बनाकर काम करवा रही है, कोई सा भी कार्य हो जो ग्राम पंचायत में होना है चाहे वह किसी भी विभाग का हो उसे सहायक सचिव पर थोप दिया जाता है, और सहायक सचिव उस कार्य को शासन का आदेश मानकर हर संभव कार्य पूर्ण करवाने में लग जाता है और ग्रामीण क्षैत्रो के इस कार्य को धरातल पर पूर्ण करवाता है, किंतु जब सहायक सचिवो के हितो की बात आती है तब शासन अपना मुह हर बार मोड लेता है।

विगत कई समय से अपने वचन पत्र में उल्लेख होने के बाद भी और माननीय मुख्यमंत्री कमलनाथ जी द्वारा भोपाल के लाल परेड ग्राउड पर 15 अगस्त को सार्वजनिक घोषणा के पश्चात भी आज दिनांक तक शासन द्वारा एक भी आदेश सहायक सचिवो के पक्ष मे जारी नही किया गया। पिछले कई समय से ग्राम रोजगार सहायक शासन के आश्वासन पर सरकार के खिलाफ नही गए किंतु शासन ने अपने तंत्र की अंतिम पंक्ति मे बैठे इस कर्मचारी को दरकिनार कर रखा है। अतः अपने अधिकार और हक की लडाई के लिए जिले के सभी सहायक सचिव 16/10/2019 से 22/10/2019 तक जनपद पंचायत फन्दा ओर बैरसिया में धरने पर कलमबंद हडताल कर धरने पर बैठेगे तथा 23/10/2019 को भोपाल में शक्ति प्रदर्शन करेगे।