Loading...

पॉलीटेक्निक अतिथि व्याख्याता: नौकरी पर खतरा मंडराया, विरोध अभियान का ऐलान | EMPLOYEE NEWS

भोपाल। प्रदेश के 67 शासकीय पॉलीटेक्निक अतिथि व्याख्याताओं का नियमितीकरण न कर बेरोजगार करने का रास्ता दिखाने बाली प्रदेश सरकार के खिलाफ आक्रोशित तकनीकी शिक्षा विभाग के अतिथि व्याख्याताओं द्वारा हस्ताक्षर अभियान चलाया जाएगा।

संगठन के प्रदेशाध्यक्ष अखिलेश सेन ने बताया कि वर्तमान सरकार द्वारा नियमितीकरण की प्रक्रिया ना करने की बजाय गेट 2020 से नियमित व्याख्याता भर्ती के लिए प्रारंभिक सूचना जारी की है। जिससे सरकार की मंशा साफ नजर नही आ रही है कि पॉलीटेक्निक अतिथि व्याख्याताओं के नियमितीकरण की बजाय गेट के माध्यम से भर्ती कराकर बेरोजगार करने का रास्ता तैयार कर दिया है। उससे सभी व्याख्याताओं में आक्रोश व्याप्त है। 

पॉलीटेक्निक अतिथि व्याख्याताओं ने अपनी मांगों को पूरा करने के लिए प्रदेश सरकार के माननीय मुख्यमंत्री जी, मंत्री एवं विधायकों एवं अन्य राजनैतिक प्रतिनिधियों से ज्ञापन देकर, मुलाकात की गई सरकार के द्वारा 10 माह बाद भी नियमितीकरण की प्रक्रिया शुरू न कर गेट-2020 के माध्यम से भर्ती कराकर बेरोजगार करने की पूरी तैयारी कर ली गई है। इससे आक्रोशित अतिथि व्याख्याताओं ने सरकार को जागरुक करने के लिए जनजागरण यात्रा के साथ हस्ताक्षर अभियान शुरू करने का निर्णय लिया है।

संगठन के सचिव दिनेश सेन ने बताया कि 1985 में शासन अंशकालीन अतिथि व्याख्याताओं को तदर्थ व्यवस्था द्वारा नियमिति किया जा चुका है। जब कि पॉलीटेक्निक अतिथि व्याख्याताओं ने शासन से  केवल न्यूनतम रुपये 30000 प्रतिमाह नियमितीकरण की मांग की है जिससे शासन के राजकोष पर आर्थिक भार नही आये। लेकिन फिर भी शासन द्वारा नियमितीकरण की मांगों पर कोई विचार नही किया गया है। जिससे आक्रोशित मध्यप्रदेश के 67 पॉलीटेक्निक कॉलेज सभी अतिथि व्याख्याताओं ने सामुहिक रूप से कब होगा न्याय हस्ताक्षर अभियान, जागरण यात्रा लेकर भोपाल में एकत्रित होने का निर्णय लिया है।

पॉलिटेक्निक अतिथि व्याख्याता संघ की मुख्य मांगे इस प्रकार है:-

1. मध्यप्रदेश शासन द्वारा पूर्व में तदर्थ सेवा व्यवस्था से अंशकालिक अतिथी व्याख्याताओं को नियमित किया गयाl उसी प्रक्रिया द्वारा वर्तमान में कार्यरत सभी पॉलिटेक्निक अतिथि व्याख्यातायों को नियमित किया जावेl

2. जब तक नियमितीकरण की प्रक्रिया संपन्न नही हो जाती हैl तव तक समस्त अतिथि व्याख्याताओं को प्रतिमाह राशि 30,000 रु. (तीस हज़ार रुपये) प्रतिमाह भुगतान किया जावेl

3. पूर्व सत्र 2018-19 में कार्यरत अतिथी व्याख्याताओं को सत्र 2019- 20 में  11 माह हेतु निरंतरता प्रदान की गई थी उसके स्थान पर 12 माह एवं सभी अतिथी व्याख्याताओं नियमितीकरण करने के साथ गेट-2020 के माध्यम से (प्राम्भिक सूचना) जारी की गई है उसे तत्काल प्रभाव से निरस्त्र किया जावे।

4. तकनीकी शिक्षा विभाग द्वारा नियमित व्याख्याता का संविलियन / स्थानांतरण किया जाता है तो उस स्थति में वर्तमान में कार्यरत अतिथि  व्याख्याताओं  को न हटाया जावेl वल्कि उसे सम्भाग/जिले/तहसील/ब्लॉक/विकासखंड स्तर पर अन्य रिक्त पद पर पदस्थ किया जावे।