Loading...

e-VISA लेने वालों के लिए इंदौर बना मुसीबत, दुबई के दंपति को उल्टे पांव लौटना पड़ा | NDORE NEWS

इंदौर। अपने परिवार के साथ दीपावली मनाने दुबई से इंदौर आए दंपती के लिए ई-वीजा मुसीबत बन गया। दोनों को इमीग्रेशन अधिकारियों ने भारत में प्रवेश देने से इंकार कर दिया। दोनों को एयरपोर्ट पर ही रखा गया। 16 घंटे बाद अगली फ्लाइट से वापस दुबई भेज दिया गया। दंपती ने ट्विटर पर इसे लेकर अपना रोष भी जाहिर किया।  

जानकारी के मुताबिक मंगलवार रात साढ़े 12 बजे यात्री सूर्यांश गुप्ता अपनी पत्नी के साथ फ्लाइट से इंदौर आए थे। उनकी पत्नी के पास ई-वीजा था। यह देखकर इमीग्रेशन अधिकारियों ने उन्हें प्रवेश देने से इंकार कर दिया। सूर्यांश के मुताबिक हमने चेक नहीं किया कि इंदौर में ई-वीजा की सुविधाएं नहीं हैं, लेकिन यहां पर आए तो इमीग्रेशन अधिकारियों ने बताया कि यह एयर इंडिया के दुबई के अधिकारियों की गलती है। अगर आपके दस्तावेज पूरे नहीं थे तो आपको प्लेन में बैठने ही नहीं देना था। जब यात्री ने एयर इंडिया से बात की तो उन्होंने कहा कि दुबई में इमीग्रेशन अधिकारियों को देखना था। इंदौर में ई-वीजा मान्य नहीं है तो आपको रोक देना था।

इधर, भारत में प्रवेश नहीं देने पर गुप्ता और उनकी पत्नी को एयरपोर्ट पर एक कमरे में रुकने के लिए जगह दी गई। इसे लेकर उन्होंने ट्वीट कर दिया। एयरपोर्ट डायरेक्टर ने गुप्ता से चर्चा भी की और भोजन व अन्य चीजों की व्यवस्था करवाई। इसके बाद बुधवार दोपहर वे दुबई के लिए रवाना हुए। गौरतलब है कि इसी साल अगस्त माह में इसी फ्लाइट में दो महिलाएं भी आई थीं। इमीग्रेशन काउंटर पर जब उनके पासपोर्ट और वीजा की जांच की जा रही थी तो उनके पास भारत आने के लिए ई-वीजा निकला। इमीग्रेशन अधिकारियों ने इंदौर एयरपोर्ट पर ई-वीजा मान्य नहीं होने की बात कहते हुए उन्हें प्रवेश देने से इंकार कर दिया था। इसके बाद प्रबंधन ने ई-वीजा की सुविधा के लिए प्रयास शुरू कर दिए हैं।

जानकारी के मुताबिक भारत से दुबई जाने वाले यात्रियों के लिए वहां पर ई-वीजा मान्य है, जिसमें यात्री यहीं से ऑनलाइन आवेदन कर फीस भर देते हैं। इसके बाद उनके मेल एड्रेस पर वीजा आ जाता है। इसका प्रिंटआउट निकालकर उन्हें दुबई एयरपोर्ट पर अपने पासपोर्ट के साथ दिखाना पड़ता है, जिसके बाद उन्हें प्रवेश मिल जाता है। सरकार ने उन एयरपोर्ट को लेकर एक नोटिफिकेशन जारी कर रखा है, जहां पर ई-वीजा को अनुमति है। इनमें अहमदाबाद, अमृतसर, बेंगलुरु, भुवनेश्वर, चेन्नई, चंडीगढ़, कोच्चि, कोयम्बटूर आदि शामिल हैं।