Loading...

अध्यापकों की ई-सेवा पुस्तिका दुरुस्त नहीं है, e-KYC नहीं हो पाएगी

स्कूल शिक्षा विभाग अंतर्गत समस्त शैक्षणिक एवं गैर शैक्षणिक अमले की e-KYC किये जाने के निर्देश जारी हुए हैं। (E-KYC of all academic and non-academic staff under School Education Department) लोक शिक्षण संचालनालय, मध्यप्रदेश द्वारा शिक्षा विभाग के अंतर्गत कार्यरत समस्त शैक्षणिक एवं गैर शैक्षणिक कर्मचारियों की Education Portal के माध्यम से Aadhar E-KYC किए जाने के निर्देश जारी किए गए हैं। eKYC के लिए Education Portal पर e KYC Management System तैयार किया गया है।

लोक शिक्षण संचालनालय, मध्यप्रदेश द्वारा जारी आदेश क्र./ एजुकेशन पोर्टल / विशेष सेल / 2019/ 597 भोपाल, दिनांक 17/10/2019 के अनुसार eKYC के सम्बन्ध में निर्देश जारी किए गए है।
1. अध्यापक संवर्ग को 7वां वेतनमान - वर्तमान में अध्यापक संवर्ग से नवीन संवर्ग में नियुक्त लोक सेवकों का डाटा कोष एवं लेखा को ट्रान्सफर किया जाना है ताकि उनको 7th वेतनमान का लाभ शीघ्र प्रदाय किया जा सके, कोष एवं लेखा द्वारा सत्यापित आधार की जानकारी अनिवार्यतः चाही गयी है। आधार सत्यापित / e-KYC होने के उपरांत आधार आधारित जानकारी कोष एवं लेखा को प्रदाय की जा सकेगी.
2. एजुकेशन पोर्टल पर संधारित ई-सेवा पुस्तिका में कई लोक सेवकों के नाम एवं पिता के नाम में आंशिक त्रुटियां है eKYC होने के उपरांत उनके नाम एवं पिता/पति का नाम आधार में दर्ज अनुसार किया जा सकेगा जिससे इस प्रकार की त्रुटियों में सुधार सुनिश्चित हो सकेगा। आधार ई के वाय सी के माध्यम से eService Book के दर्ज जानकारी में सुधार हो सकेगा। 

3. जो सुधार नहीं हो रहा है जब तक अध्यापक संवर्ग की सेवा पुस्तिका को स्कूल शिक्षा विभाग भोपाल के द्वारा अनलॉक नहीं किया जाता है तब तक ए समस्या सही नहीं होगी eKYC होने के उपरांत डाटा नहीं सुधार रहा है । सत्यापित लिस्ट में को DDO में मिलती है उसमे जिनके नाम में पिता के नाम में त्रुटि है उनका नाम नहीं मिलता है ना ही सुधार होता है । DDO के द्वारा सत्यापन भी किया जाता है तब भी। 

4.संकुल प्राचार्य द्वारा वेरिफिकेशन - सम्बंधित लोक सेवकों के द्वारा ऑथेंटिकेशन किये जाने के उपरांत संकुल प्राचार्य DDO द्वारा आधार आधारित नाम और एजुकेशन पोर्टल पर दर्ज नाम दोनों को देखकर जानकारी सत्यापित की जाएगी सत्यापन उपरांत सम्बंधिट की ई-सेवा पुस्तिका में आधार आधारित जानकारी यथा नाम / पिता का नाम । जेंडर/जन्म तिथि/ पता आदि जानकारी को अपडेट किया जायेगा इससे त्रुटिपूर्ण नाम आदि की जानकारी भी सही दर्ज हो सकेगी|

5. eKYC 30 अक्टूबर 2019 तक - eKYC की कार्यवाही दिनांक 30 अक्टूबर 2019 तक पूर्ण कराए जाने के निर्देश दिए गए है.

6.बहुत लोगो के नाम में त्रुटि है किसी के पिता /पति का नाम हिंदी में है किसी का मध्य नाम नहीं है / किसी का मध्य नाम नहीं होने पर भी मध्य नाम है । जैसे - राजमणि कुशवाहा किसी का नाम है परन्तु सेवा पुस्तिका - में राज मणि कुशवाहा है। राज प्रथम नाम मणि मध्य नाम जब की ये सही नहीं है राजमणि होना चाहिए। रिकॉर्ड के अनुसार पिता का नाम बहुत लोगों में हिंदी में है। e-KYC करने के बाद सत्यापन होने के बाद भी सुधार नहीं होता है आधार कार्ड के अनुसार जो होना चाहिए। सेवा पुस्तिका एवम् पे रोल में भी बहुत लोगो का नाम पिता/पति का नाम भिन्न है। अतः सभी की सेवा पुस्तिका को एक साथ अनलॉक करने से सभी का नाम सुधार हो सकता है। अन्यथा नहीं।
निवेदक: S.M.Pandey अध्यापक रीवा 9165038603