Loading...

BHOPAL की हसीन शाम देखने आया था PSC छात्र, हादसे का शिकार हो गया

भोपाल। रोशनपुरा चौराहा से उतरते वक्त बाणगंगा चौराहा पर बेकाबू हुए हार्वेस्टर की चपेट में आए पीएससी की तैयारी करने वाले छात्र ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। वह भोपाल की खूबसूरत शाम देखने इंदौर से आया था। दोस्त के साथ बड़े तालाब जा रहा था, तभी हार्वेस्टर ने उसकी जान ले ली। वह घर का इकलौता बेटा था। कहता था मम्मी-पापा आप लोग मेरे साथ ही आकर रहो।

मंगलवार रात करीब साढ़े दस बजे हुए हादसे के वक्त पांच बाइक और एक कार बाणगंगा चौराहा स्थित ट्रैफिक सिग्नल पर खड़े थे। इनमें से एक बाइक पर मूलत: पन्ना निवासी 20 वर्षीय प्रभाकर तिवारी अपने दोस्त आकाश चौकसे के साथ थे। प्रभाकर इंदौर में रहकर पीएससी परीक्षा की तैयारी कर रहे थे। आकाश ने बताया कि मंगलवार रात करीब साढ़े आठ बजे प्रभाकर इंदौर से भोपाल आए। कहने लगे मुझे भोपाल की शाम बहुत हसीन लगती है, चलो घूमकर आते हैं। दोनों आकाश के अरेरा कॉलोनी स्थित मकान से निकलकर बड़े तालाब जा रहे थे।

पढ़ाई के लिए बंद कर दिए थे सोशल मीडिया अकाउंट

हादसे की सूचना पर प्रभाकर के पिता राजेंद्र तिवारी और मां रश्मि तिवारी पन्ना से भोपाल आ गए। बेटे की मौत का पता चलने के बाद से ही रश्मि की तबीयत बिगड़ गई है। दोनों मिलकर एक्युप्रेशर ट्रीटमेंट करते हैं। एक रिश्तेदार ने बताया कि खराब आर्थिक हालातों में इकलौते बेटे प्रभाकर को दोनों ने इंजीनियरिंग करवाई। फिलहाल वह पीएससी की तैयारी कर रहा था। कहता था कि मम्मी-पापा आप लोग भी मेरे पास ही आ जाओ, साथ रहेंगे। अब खुद ही उन्हें अकेला छोड़ गया।

ढलान पर बंद हों भारी वाहन

प्रभाकर के मौसा मनोज नायक ने रोशनपुरा से बाणगंगा आने वाली ढलान पर भारी वाहनों की आवाजाही पर रोक लगाने की मांग करते हुए कहा कि ऐसे वाहनों को डिपो चौराहा होते हुए पॉलिटेक्निक चौराहा तक लाया जाना चाहिए। इससे पहले भी इस ढलान पर भारी वाहनों से दो बड़े हादसे हो चुके हैं।

प्रभाकर बोला, भाई लगता है कि इसके ब्रेक फेल हो गए हैं

आकाश ने बताया कि ढलान से उतर रहे हार्वेस्टर की गड़गड़ाहट सुनकर प्रभाकर बोला, भाई लगता है कि इसके ब्रेक फेल हो गए हैं। ड्राइवर भी शोर मचाते हुए आ रहा था कि रास्ते से हट जाओ, गाड़ी के ब्रेक फेल हो गए हैं। हम सभी संभल पाते, इससे पहले ही हार्वेस्टर ने सिग्नल पर सबसे पीछे खड़ी कार को टक्कर मार दी। इससे आगे खड़े बाइक सवारों को वक्त मिल गया। सभी कूदकर भाग रहे थे, इसी दौरान प्रभाकर उसकी चपेट में आ गए। गंभीर हालत में उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान देर रात तीन बजे प्रभाकर ने दम तोड़ दिया।

रास्ता भटककर आया था हार्वेस्टर चालक

टीटी नगर पुलिस ने हार्वेस्टर जब्त कर आरोपी चालक को गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ में उसने बताया कि वह रातीबड़ से आया था और बागमुगालिया जाना था। रास्ता भटककर वह रोशनपुरा चौराहा आ गया। पुलिस उसी से हार्वेस्टर चलवाकर थाने तक लाई। ब्रेक फेल होने के कारण पुलिस के तीन जवान हार्वेस्टर के आगे-आगे चल रहे थे।