Loading...

इंदौर से छतरपुर जा रही बस नदी में गिरी, सात की मौत, 40 घायल | MP NEWS

रायसेन। भोपाल के पास छतरपुर जा रही यात्री बस रायसेन से पहले दरगाह के पास रीछन नदी के पुल से नदी में गिर गई। यह हादसा रात डेढ़ बजे के करीब हुआ। घटना में सात यात्रियों की मौत की पुष्टि हुई है। लेकिन उनकी शिनाख्त नहीं हो पाई है, जबकि तीन दर्जन से ज्यादा लोगों के घायल होने की जानकारी है। कोतवाली पुलिस के मुताबिक छतरपुर जा रही बस पुल पर पहुंचने से पहले अनियंत्रित होकर नदी में जा गिरी। 

बुधवार की देर रात 1 बजे ओम साईं राम कंपनी (Om Sai Ram Company) की यात्री बस इंदौर से छतरपुर जा रही थी, जिसमें करीब 45 यात्री सवार थे। बस दरगाह के पास रीछन नदी के पुल पर गड्ढे में फंस गई और अनियंत्रित होकर 50 फीट नीचे नदी में गिर गई। घटना की सूचना पाकर रायसेन कलेक्टर उमाशंकर भार्गव और एसपी मोनिका शुक्ला सहित पूरा प्रशासन मौके पर पहुंचा। रात होने की वजह से अधिकतर यात्री नींद में थे। बस के गिरते ही चीखपुकार मच गई। जिसे सुनकर स्थानीय लोग मदद के लिए तत्काल मौके पर पहुंच गए। वहीं लोगों ने पुलिस को सूचित किया जिस पर कोतवाली पुलिस बस व एसडीआरएफ की टीम भी राहत के लिए तत्काल मौके पर पहुंच गई।

रात ढाई बजे तक सात यात्रियों के शव नदी में आधी डूबी बस से निकाले जा चुके थे। वहीं 3 दर्जन से ज्यादा घायल यात्रियों को बस से निकालकर इलाज के लिए विभिन्न वाहनों से जिला अस्पताल भेजा जा रहा था। घायलों में कुछ यात्रियों की स्थिति गंभीर है। मृतकों की शिनाख्त नहीं हो पाई है। बताया जा रहा है कि यहां पुलिया के पास एक गड्ढा है, इसमें तेज रफ्तार बस का बैलेंस बिगड़ गया और वह ब्रिज की रेलिंग तोड़ते हुए सीधे उफनती हुई नदी में जा गिरी। हादसे में कुछ यात्रियों के पानी में बहने की बात भी सामने आ रही है। सूचना मिलने के बाद एसडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंच गई थी और तुरंत ही रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया गया।

हादसे में यात्रियों को बचाने के लिए पानी में उतरी रेस्क्यू टीम को अंधेरे में काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। बस में फंसे यात्रियों को निकालने में टीम के कुछ सदस्यों को बस की खिड़की के कांच भी लग गए। बस को रस्सी के सहारे खींचकर सीधा किया गया और फिर यात्रियों को रस्सी के जरिए लाइफ जैकेट पहनाकर खींचकर बाहर निकाला गया।