Loading...

मंत्री के भतीजे के खुश करने एसपी ने 4 सिपाही सस्पेंड किए, 1 ASI लाइन हाजिर | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। एसपी नवनीत भसीन ने मंत्री लाखन सिंह यादव के भतीजे को खुश करने के लिए 4 पुलिस आरक्षकों को सस्पेंड कर दिया। उनके 4 थाना प्रभारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया और 1 एएसआई को लाइन हाजिर कर दिया। आज लोकल मीडिया में यह खबर सबसे ज्यादा सुर्खियों में रही। लोगों का सिर्फ यही कहना था कि काश एसपी, आम आदमी के साथ होने वाली घटनाओं में भी ऐसे ही संवेदनशील होते। 

घटनाक्रम क्या हुआ

प्रदेश सरकार में पशु पालन मंत्री लाखन सिंह यादव के भतीजे और कांग्रेस नेता संजय यादव मंगलवार को पनिहार के बड़ा रायपुर गांव में एक कार्यक्रम में शामिल होकर लौट रहे थे। अभी वह गिरवाई से होते हुए गोल पहाड़िया पुलिस चौकी के सामने पहुंचे ही थे कि नो एंट्री होने के बाद भी सामने से आए ट्रक क्रमांक आरजे11 जीबी-2844 ने संजय की कार में टक्कर मार दी। किसी तरह उन्होंने कार को नियंत्रित कर गंभीर हादसा होने से बचाया। हादसे के बाद आक्रोशित स्थानीय लोगों ने ट्रक चालक को पकड़कर पीटना शुरू कर दिया। सूचना पर पुलिस बल मौके पर पहुंचा और ट्रक चालक को बचाते हुए निगरानी में लिया। 

एसपी नवनीत भसीन ने क्या किया

घटना के बाद मंत्री के भतीजे ने एसपी नवनीत भसीन को कॉल कर घटना की पूरी जानकारी दी। जिस पर एसपी ने मामले की जांच के लिए आनन फानन एएसपी व सीएसपी को घटना स्थल पर पहुंचाया। फटाफट जांच पूरी की गई और वस्तु स्थिति सामने आई। एसपी नवनीत भसीन ने जांच में पाया कि यह ट्रक ट्रांसपोर्ट नगर से प्रवेश वर्जित होने के बाद भी मोतीझील, रेशमपुरा, गोल पहाड़िया से होता हुआ गिरवाई जा रहा था। इसका मतलब साफ है कि मोतीझील, रेशमपुरा व गोल पहाड़िया प्वाइंट पर तैनात एफआरवी व पुलिस जवानों को कुछ लाभ होगा इसलिए इसे रोका नहीं गया। इसलिए एसपी ग्वालियर ने इन प्वांइट पर तैनात आरक्षक ध्यानेन्द्र गुर्जर पुरानी छावनी, आरक्षक दिनेश गुर्जर, आरक्षक जावेद खान बहोड़ापुर थाना, आरक्षक मनीष शर्मा आरक्षक गौरव भदौरिया थाना जनकगंज को तत्काल निलंबित कर दिया है। इसके अलावा गोल पहाड़िया पुलिस चौकी प्रभारी एसआई अमर सिंह को लाइट अटैच किया गया है।

4 थाना प्रभारियों को कारण बताओ नोटिस

पूरे घटनाक्रम पर एसपी नवनीत भसीन ने चार थानों जिनमें पुरानी छावनी टीआई केपीएस यादव, जनकगंज टीआई ज्ञानेन्द्र सिंह बघेल, बहोड़ापुर टीआई वायएस तोमर तथा गिरवाई थाना प्रभारी वेदेन्द्र सिंह को नोटिस जारी कर 3 दिन में जवाब मांगा है। एसपी ने नोटिस में साफ शब्दों में दो टूक बात की है। आपके क्षेत्र से गुजरने वाले भारी वाहन नो एन्ट्री में कैसे जा रहे हैं,इसका जवाब 3 दिन के अंदर चाहिए।

मंत्री का नाम आया तो एसपी संवेदनशील हो गए

घटना मंगलवार दोपहर गोल पहाड़िया पुलिस चौकी के सामने की है। घटनाक्रम कांग्रेस सरकार के मंत्री से जुडा होने के कारण एसपी नवनीत भसीन ने पुरानी छावनी, बहोड़ापुर व जनकगंज के विभिन्न प्वाइंट पर तैनात 5 आरक्षकों को निलंबित कर दिया। जबकि गोल पहाड़िया पुलिस चौकी प्रभारी सब इस्पेंक्टर को लाइन अटैच करने के साथ ही पुरानी छावनी, बहोड़ापुर, जनकगंज व गिरवाई थाना के प्रभारियों को कारण बताओ नोटिस देकर नो एन्ट्री में ट्रकों की एन्ट्री पर 3 दिन में जवाब पेश करने को कहा है। 

नो एन्ट्री में रिश्वत लेकर एन्ट्री अब भी हो रही है 

नो एन्ट्री में सुविधा शुल्क देकर एंट्री लेने का यह पहला मामला नहीं है। थानों की सेटिंग से यह खेल नियमित रूप से चल रहा है चल रहा है। एसपी की कार्रवाई की बाद भी यह जारी है। कई बार हादसे हुए हैं और लोगों ने जान भी गंवाई है पर इतना क्विक एक्शन पहली बार देखने को मिला है।

काश! आम लोगों के साथ हादसे के बाद भी ऐसी कार्रवाई होती

गोल पहाड़िया की इस रोड पर बीते 3 साल में आधा सैकड़ा से अधिक हादसे हुए हैं। जिसमें 18 से 20 लोगों ने जान गंवाई और कई घायल हुए। नो एंट्री में दौड़ते ट्रकों ने किसी मां से उसका बेटा, बहन से भाई व पत्नी से पति व बच्चों से पिता छीन लिया। स्थानीय लोगों ने आक्रोश में आंदोलन तक किए, जिसके बाद यहां से दिन में यातायात को वर्जित भी किया गया। पर किसी पुलिस अफसर ने कोई एक्शन नहीं लिया। पर मंत्री के भतीजे की गाड़ी से ट्रक टकराने के बाद कड़ा एक्शन लिया गया। काश आम लोगों के साथ होने वाले हादसों के बाद भी पुलिस इस तरह एक्शन मोड पर आती।