Loading...

भारत की सेना ने कहा: अगला एजेंडा PoK, बस फैसले का इंतजार

नई दिल्ली। भारत की सेना के चीफ जनरल बिपिन रावत ने बयान दिया है कि 'अगला एजेंडा पीओके को फिर से हासिल करना है और सेना इसके लिए तैयार है।' उन्होंने कहा कि हम सरकार के फैसले का इंतजार कर रहे हैं। (Bipin Rawat, Chief General of India's Army, has given a statement that 'the next agenda is to regain PoK and the Army is ready for it'. He said that we are waiting for the decision of the government.)

पीवी नरसिम्हाराव की सरकार ने संकल्प लिया था

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने मंगलवार को कहा था, ‘सरकार का अगला एजेंडा जम्मू-कश्मीर के बाकी हिस्से (पाक के कब्जे वाले कश्मीर यानी पीओके) को भारत में शामिल करना है। ये केवल मेरी या पार्टी की प्रतिबद्धता नहीं है। यह रेजोल्यूशन तो 1994 में संसद में पीवी नरसिम्हाराव की सरकार के वक्त पास किया गया था।’’

जेकेएलएफ नेता यासीन मलिक पर हमला

जितेंद्र सिंह ने कहा था कि ऐसा कोई भी व्यक्ति जो देश विरोधी गतिविधियों में लगा हुआ है, उसे उसकी कीमत चुकानी पड़ेगी। वे जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (जेकेएलएफ) के नेता यासीन मलिक पर निशाना साध रहे थे। यासीन पर वायुसेना अफसरों की हत्या में शामिल होने का आरोप है।
सेना प्रमुख पिछले महीने कश्मीर दौरे पर गए थे

जनरल बिपिन रावत फॉरवर्ड पोस्ट तक गए थे

जम्मू-कश्मीर से 370 हटाए जाने के बाद से जनरल बिपिन रावत 31 अगस्त को पहली बार कश्मीर दौरे पर गए थे। इस दौरान उन्होंने नॉर्दर्न कमांड के व्हाइट नाइट कॉर्प्स की फॉरवर्ड पोस्ट का दौरा किया था। दूरबीन की मदद से एलओसी के उस पार की गतिविधियों का जायजा लिया। उन्होंने जवानों से सीमा पार किसी भी तरह की घुसपैठ से निपटने के लिए तैयार रहने को कहा। इस दौरान उनके साथ नॉर्दर्न कमांड के शीर्ष अधिकारी भी मौजूद थे।